25 हजार के इनामी समेत दो गिरफ्तार

एसओजी प्रभारी मुकेश सिंह को सूचना मिली कि इनामी अपराधी अपने साथी के साथ हुजूरपुर थाना क्षेत्र के बारुही पुल के रास्ते से शुक्रवार को भोर में नशे की बड़ी खेप लेकर जा रहा है।

JagranFri, 30 Jul 2021 10:36 PM (IST)
25 हजार के इनामी समेत दो गिरफ्तार

बहराइच : जिले की एसओजी टीम ने हुजूरपुर पुलिस के साथ संयुक्त टीम गठित कर 25 हजार रुपये के इनामी अपराधी समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपितों के पास से नशे की खेप बरामद की गई है। आरोपितों के खिलाफ कई जिलों में लूट, डकैती, चोरी समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं।

एसओजी प्रभारी मुकेश सिंह को सूचना मिली कि इनामी अपराधी अपने साथी के साथ हुजूरपुर थाना क्षेत्र के बारुही पुल के रास्ते से शुक्रवार को भोर में नशे की बड़ी खेप लेकर जा रहा है। एसओजी प्रभारी ने हुजूरपुर के निरीक्षक ज्ञानेंद्र पांडे के साथ टीम गठित कर बारुही पुल के पास घेराबंदी की तो भोर में पुल के पास दो संदिग्ध लोग आते हुए दिखाई दिए। पुलिसकर्मियों ने उन्हें घेर कर पकड़ लिया। उनके पास से दो बोरियों में 30 किलोग्राम गांजा का बुरादा बरामद किया गया, जबकि एक थैले से डेढ़ किलोग्राम चरस भी पकड़ी गई। पकड़े गए आरोपित की पहचान श्रावस्ती जिले के इकौना के इंस्पेक्टर पुरवा दीनामगढ़ निवासी शातिर अपराधी विधायक उर्फ पुन्नी व रामकुमार उर्फ ननकू के रूप में हुई।

आरोपितों के खिलाफ श्रावस्ती, गोंडा, बलरामपुर, बहराइच समेत कई जिलों में गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे न्यायालय भेज दिया गया। एसओजी प्रभारी ने बताया कि आरोपितों के कई अन्य साथियों की तलाश की जा रही है। गिरफ्तारी टीम में एसआई अहमद हुसैन, मुख्य आरक्षी करुणेश शुक्ल, रणविजय यादव, आरक्षी रविप्रताप, सुनील यादव, विजय पटेल, नितिन अवस्थी, शिवकुमार व अनिल कुमार शामिल रहे।

पढ़ें अन्य खबरें..

बालक को अगवा कर जंगल में बंधक बनाकर पीटा

बहराइच : रुपइडीहा के ग्राम खैरहानियां निवासी बालक का अवैध कटान करने वाले लकड़ी ठेकेदार ने चोरी का आरोप लगाकर अगवा कर लिया। जंगल में ले जाकर उसे बंधक बनाकर उसकी डंडों से पिटाई की। जानकारी मिलने के बाद पीड़ित बालक की मां ने नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की, लेकिन पुलिस मामले को दबाने में जुटी है।

खैरनिया निवासी रिजवान पर गांव के रहने वाले लकड़ी ठेकेदार ने 500 रुपये की चोरी का इल्जाम लगा कर उसे अगवा कर ले गया। बालक को भारत नेपाल सीमा से सटे अब्दुल्लागंज जंगल में ले जाकर पेड़ में बांधकर उसे डंडों से पीटकर शारीरिक यातना दी। पिटाई के बाद ठेकेदार ने उसे जिदा जलाने की धमकी दी तो डरे-सहमे बच्चे ने चोरी की बात कबूल की तो इसके बाद उसे छोड़ दिया गया। किसी तरह घर पहुंचे बालक ने अपने साथ हुए हैवानियत की कहानी मां को सुनाई और शरीर पर बने पिटाई के निशान भी दिखाए। इसके बाद पीड़ित परिवार ने आरोपित के खिलाफ तहरीर दी। कोतवाल अशोक कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.