अक्षय की तेरहवीं पर यज्ञ, लोगों ने दी श्रद्धांजलि

रंछाड़ गांव में गुरुवार को आरएसएस के बिनौली खंड संचालक के पुत्र अक्षय की तेरहवीं पर यज्ञ आयोजित हुआ।

JagranThu, 29 Jul 2021 10:14 PM (IST)
अक्षय की तेरहवीं पर यज्ञ, लोगों ने दी श्रद्धांजलि

बागपत, जेएनएन। रंछाड़ गांव में गुरुवार को आरएसएस के बिनौली खंड संचालक के पुत्र अक्षय की तेरहवीं पर आयोजित यज्ञ में आसपास के गांवों से गणमान्यों एवं विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता और पदाधिकारी पहुंचे और आहुति देकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

पंडित मदन शर्मा के सानिध्य में हुए यज्ञ में वेद मंत्रोच्चारण के साथ सिरसली, जिवाना, बिनौली, बामनौली, बिजवाड़ा, दादरी, माखर, मलमाजरा, बिजरौल आदि सहित दर्जनों गांवों के गणमान्य ग्रामीणों व आरएसएस, रालोद, भाजपा, सपा सहित विभिन्न दलों व संगठनों के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों में आहुति देकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान हुई शोकसभा में दो मिनट का मौन भी रखा गया। ये रहे मौजूद

शोक सभा में देशखाप चौधरी सुरेंद्र, एसआइ ओमवीर सिंह, रालोद पूर्व विधायक वीरपाल राठी, राष्ट्रीय सचिव डा. कुलदीप उज्ज्वल, अरुण तोमर बोबी, विकास प्रधान, गगन धामा, संजीव मान, राजेंद्र सिंह, यशपाल सिंह, रामकुमार, आदित्य प्रधान, सतबीर सिंह, समरपाल सिंह, देवेंद्र प्रधान, उपेंद्र प्रधान, सुधीर तोमर, अवनीश तोमर, आरएसएस से रामभरोसे लाल, विकास माजरा, राजीव राणा, अशोक तोमर, बजरंग दल संयोजक अमित तितरोदा, पुष्पेंद्र खोखर, रणबीर गुर्जर, सत्यव्रत आर्य, दीपक बामनोली, जसबीर सोलंकी, महिपाल कश्यप आदि शामिल हुए। ये था मामला

26 जुलाई को गांव में कोरोना टीकाकरण शिविर में ग्रामीणों व पुलिसकर्मियों के बीच मारपीट हो गई थी। इस मामले में आरएसएस के खंड संचालक व उनके पुत्र अक्षय समेत दस के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने खंड संचालक के मकान पर दबिश देते हुए तोड़फोड़ की थी और स्वजन से मारपीट की थी। इसी से क्षुब्ध होकर अक्षय ने आत्महत्या कर ली थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.