ट्रैफिक नियम तोड़ने पर बागपत में होते हैं 90 प्रतिशत हादसे

ट्रैफिक नियम तोड़ने पर बागपत में होते हैं 90 प्रतिशत हादसे

सावधानी हटी दुर्घटना घटी। जी हां सड़क पर जगह-जगह यह लिखा होता है।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 09:14 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। जी हां, सड़क पर जगह-जगह यह लिखा होता है, फिर भी कुछ लोग इसको नजरअंदाज कर देते हैं। यही हादसे की बड़ी वजह बन रही है। 90 प्रतिशत हादसे ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने के कारण होते हैं। कुछ लोग तो जान-बूझकर नियमों का उल्लंघन करते हैं। इस साल 11 माह में पुलिस व परिवहन विभाग ने 49,814 लोगों के वाहनों के चालान कर 4,06,32,200 लोगों पर जुर्माना लगाया गया,फिर भी नियमों की अनदेखी की जा रही है। इससे सड़क हादसों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। यातायात माह नवंबर में भी हादसों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। हादसों में 18 लोगों की मौत तथा 50 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। शायद ही कोई दिन ऐसा गुजरता है, जब हादसा न होता है। पुलिस वाले भी करते हैं नियमों का उल्लंघन

रोड पर कुछ पुलिसकर्मी भी यातायात नियमों की उल्लंघन करते हुए नजर आते हैं।

रोड पर स्टंट भी बनता है हादसों की वजह

सड़कों पर कुछ युवा अक्सर बाइक व कार से स्टंट करते नजर आते हैं। तीन सप्ताह पूर्व बाइक सवार दो युवक दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे पर स्टंट कर रहे थे। उन्हें बचाने के प्रयास में दो बसों की भिड़ंत हो गई थी, जिसमें दर्जनों यात्री घायल हुए थे। इससे पहले भी स्टंट करने से बाइक सवार युवक की जान जा चुकी है। पुलिस के सामने नियम तोड़कर निकले वाहन

राष्ट्रवंदना चौक पर शुक्रवार को कई वाहन पुलिसकर्मियों के सामने ही नियम तोड़कर गुजरे। मोपेड का चालक हेलमेट लगाने के बजाए शीशे पर लटकाकर जाता दिखाई दिया। सब्जी के बोरों से लदे कैंटर में दर्जनों महिला-पुरुष सवार होकर गुजरे। गलत साइड में भी लोग वाहन चलाते नजर आए। हाईवे पर छलकते हैं जाम

गली-मोहल्ले ही नहीं, हाईवे पर युवा शराब पीते हुए नजर आते हैं। कई बार पुलिस छापामारी कर युवकों को पकड़ चुकी है। आवासीय कालोनी में भी युवा कारों में बैठकर शराब पीते हैं, फिर नशे की हालत में कार चलाते हैं। आ गया बागपत, उतार लो हेलमेट

बागपत से हरियाणा राज्य की सीमा लगी हुई है। बड़ी संख्या में लोग हरियाणा से आते-जाते हैं। हरियाणा में दोपहिया वाहनों पर अधिकांश लोग हेलमेट लगाकर सफर करते हैं, लेकिन इनमें से कुछ लोग बागपत की सीमा में प्रवेश करते ही हेलमेट उतार लेते हैं। कई बार दोपहिया वाहन सवार आपस में कहते सुने जाते हैं कि बागपत आ गया है, अब तो हेलमेट उतार लो.. बाइक के साइलेंसर से ठांय, ठांय, ठांय

कुछ युवाओं ने अपनी बुलेट बाइक व अन्य बाइकों में अलग से साइलेंसर लगवा रखे हैं, जो बाजार व आबादी क्षेत्र में बाइकों से ठांय-ठांय ठांय.. की तेज आवाज निकालते हैं। ऐसी दर्जनों बाइकों के पुलिस चालान कर चुकी हैं, फिर भी ऐसी बाइकों पर अंकुश नहीं लग रहा है। चालान का लेखा-जोखा

किस कारण चालान

बगैर हेलमेट के वाहन चलाना - 27,799

बगैर सीट बेल्ट के वाहन चलाना - 9,254

नो पार्किंग - 3,885

ओवरलोड - 950

बगैर ड्राइविग लाइसेंस के वाहन चलाना - 715

वाहन का हूटर/सायरन बजाने पर - 47

वाहनों पर काली फिल्म लगाने पर - 64

शराब पीकर वाहन चलाने पर - 15

--

ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर की जाती है कार्रवाई : एसपी

एसपी अभिषेक सिंह का कहना है कि ट्रैफिक नियमों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है। ज्यादातर हादसे नियमों का उल्लंघन करने के कारण ही होते हैं। ट्रैफिक नियमों की अनदेखी

से होते हैं हादसे : एआरटीओ

एआरटीओ सुभाष राजपूत का कहना है कि ट्रैफिक नियमों की अनदेखी से 90 प्रतिशत हादसे होते हैं। हर किसी को ट्रैफिक संबंधी नियमों का पालन करना चाहिए। मुख्यत: हादसे ओवर स्पीड में वाहन चलाने से होते हैं। जरूरी है कि चालक गति सीमा के साथ-साथ सड़क, प्रकाश व वाहन की हालत देखकर ही वाहन चलाएं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.