दीपक जलाए और आतिशबाजी की, बांटा देशी घी के लड्डू का प्रसाद

दीपक जलाए और आतिशबाजी की, बांटा देशी घी के लड्डू का प्रसाद

श्री रघुवर रामलीला समिति व श्री राधा दामोदर मंदिर ठाकुर मंदिर समित की ओर से मंदिर निर्माण पर हर्ष जताया गया।

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 10:10 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। श्री रघुवर रामलीला समिति व श्री राधा दामोदर मंदिर ठाकुर मंदिर समित की ओर से मंदिर को फूल, गुब्बारे एवं रंगी झालरों से सजाया। श्री रघुवर रामलीला समिति द्वारा रामदरबार में राम आरती की। उसके बाद आतिशबाजी की गई। 251 घी के दीपक जलाकर और 31 किलो लड्डू से भगवान को भोग लगाकर घर घर प्रशाद बांटा। खुशी में आतिशबाजी की गई। पूर्व चेयरमैन रोहताश गुप्ता, रामलीला समिति के अध्यक्ष संजय रूहेला, मंदिर समित के अध्यक्ष राजीव गुप्ता, राकेश गुप्ता, कन्हैया गुप्ता, कमल वशिष्ठ आदि का सहयोग रहा। श्री शालिगराम काली मंदिर में पुजारी हर्ष शास्त्री ने श्रीराम के दरबार में दीपक जलाए और आरती की। श्रद्धालुओं ने यहां बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इसके अलावा पक्का घाट मंदिर में श्रीराम नाम से दीपक जलाए। मंदिर में विशेष आरती का आयोजन किया गया। मंदिर के पुजारी महंत दिव्यानंद महाराज, दिनेश कश्यप, प्रमोद सहित अन्य लोग मौजूद रहे। श्री रामस्वरूप सनातन धर्म संस्कार संस्थान ट्रस्ट की ओर से कार्यालय पर दीप प्रज्जवलित किए और रामायण का पाठ किया। अध्यक्ष पंडित रविद्र प्रसाद पांडेय, अनिलदेव त्यागी, नगेश शर्मा एडवोकेट, कमल जुनेजा, मोनू दिवाकर सहित अन्य लोग मौजूद रहे। सिसाना रोड स्थित हनुमान मंदिर में दीपक जलाए। श्रीराम और हनुमान की आरती की। मिटी चौहान, हरेंद्र चौहान, अखिलेश, पवन, प्रदीप, मनीष मौजूद रहे। पुराना कस्बा के बागेश्वर महादेव मंदिर में दीप जलाए गए और आरती की। परशुरामेश्वर महादेव मंदिर 1008 दीपक से श्रीराम का नाम

संवाद सूत्र, बालैनी: अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भव्य राम मंदिर का शिलान्यास करने के बाद से भारतवर्ष में खुशी का माहौल है। बुधवार को पुरा गांव स्थित ऐतिहासिक श्री परशुरामेश्वर महादेव मंदिर में पुजारियों द्वारा भगवान आशुतोष का श्रंगार किया और 1008 दीप जलाकर श्रीराम नाम लिखा। पंडित बिजेंद्र शर्मा ने बताया कि पंडितों द्वारा आज पूरे भारतवर्ष में आपसी भाईचारा, अखंडता और सुख शांति की कामना की गई। मंदिर के निर्माण के लिये पुरा महादेव मंदिर की मिट्टी और जल भी मंदिर के मुख्य पुजारी और समिति पदाधिकारी अयोध्या लेकर गए थे और वहा महंत चंपत राय को जल और मिट्टी भेंट की थी। पंडित आशुतोष शर्मा, पंडित अभिषेक शर्मा, पंडित नितिन शर्मा, पंडित रोहित शर्मा आदि मौजूद रहे। गांव में भी दीपक जलाकर खुशी जाहिर की।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.