शोरूम लूट प्रकरण : 25 हजारी कपिल ने किया आत्मसमर्पण

शोरूम लूट प्रकरण : 25 हजारी कपिल ने किया आत्मसमर्पण

शोरूम संचालक से 70 हजार रुपये लूटने के मामले में 25 हजार के इनामी बदमाश कपिल ने चकमा देकर समर्पण कर दिया।

Publish Date:Wed, 20 Jan 2021 09:45 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। शोरूम संचालक से 70 हजार रुपये लूटने के मामले में 25 हजार के इनामी बदमाश कपिल ने पुलिस को चकमा देकर अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया।

नौ जनवरी की रात करीब नौ बजे बागपत निवासी रविद्र उर्फ रवि कुमार के कपड़ों व जूतों के शोरूम पर तीन बदमाशों ने 70 हजार रुपये की लूट की थी। विरोध पर बदमाशों ने तमंचे की बट से रविद्र का सिर फोड़ दिया था। लोगों ने एक बदमाश गौरव निवासी कस्बा अग्रवाल मंडी टटीरी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था। उसके दो साथी कपिल व पवन भागने में कामयाब हो गए थे। शोरूम से बाइक पर कोतवाली ले जाते समय बदमाश कस्बा चौकी इंचार्ज गजेंद्र सिंह की पिस्टल लूटकर बाइक से कूदकर फरार हो गया था। देर रात हुई मुठभेड़ में पैर में गोली लगने से बदमाश गौरव घायल हो गया था। बदमाश गौरव की गोली से कांस्टेबल सिराज खान घायल हुए थे।

पुलिस ने गौरव से एसआइ गजेंद्र सिंह की लूटी गई सरकारी पिस्टल व चार कारतूस के खोखे बरामद किए थे। एसपी अभिषेक सिंह ने अभियुक्त कपिल व पवन पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। अधिवक्ता नरेंद्र बली ने बताया कि कपिल ने बुधवार को सीजेएम कोर्ट में सरेंडर किया है।

उधर, कोतवाली प्रभारी एनएस सिरोही का कहना है कि पुलिस दबाव से अभियुक्त कपिल ने अदालत में आत्मसमर्पण किया है। उसको पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। फरार अभियुक्त पवन की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। रंगदारी मांगने वाला तीसरा आरोपित गिरफ्तार कुख्यात सुनील राठी के नाम से मांगी गई थी 15 लाख की रंगदारी

कुख्यात सुनील राठी के नाम से शहर के दो व्यापारियों से 15 लाख की रंगदारी मांगने के मामले में फरार चल रहे तीसरे आरोपित को भी पुलिस ने बुधवार को शहर की छपरौली चुंगी से दबोच लिया। कोतवाली पुलिस मामले में दो आरोपियों को पहले ही जेल भेज चुकी है।

कोतवाल अजय शर्मा ने बताया कि पकड़ा आरोपित शहर की पट्टी चौधरान का रहने वाला यश चौधरी है, जो कुख्यात सुनील राठी के नाम से शहर के दो व्यापारियों से रंगदारी मांगने के मामले में फरार चल रहा था। गिरोह के दो सदस्यों सौरभ राणा पुत्र धर्मवीर निवासी बावली रोड बड़ौत और अब्दुल कादिर पुत्र मोहम्मद अतीक निवासी पट्टी चौधरान को 10 जनवरी को शहर के बावली रेलवे अंडरपास के पास हुई मुठभेड़ के बाद दबोच लिया था, जबकि यश चौधरी पुलिस को चकमा देकर भाग निकला था। बुधवार को मुखबिर की सूचना पर कोतवाल अजय शर्मा ने पुलिस टीम के साथ शहर की छपरौली चुंगी से यश चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित का चालान कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.