मुख्यमंत्री करेंगे बागपत की सड़कों का शिलान्यास

मुख्यमंत्री करेंगे बागपत की सड़कों का शिलान्यास

जिले के विकास के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बागपत समेत तमाम जिलों की सड़कों का शिलान्यास करेंगे।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 09:08 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। जिले के विकास के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बागपत समेत तमाम जिलों की सड़कों का लखनऊ से आनलाइन शिलान्यास 28 नवंबर की दोपहर 12 बजे करेंगे। बागपत में सात करोड़ रुपये से 22 सड़कों का निर्माण होगा। इन सड़कों का शिलान्यास कराने की तैयारी में अधिकारी जुट गए हैं।

शासन में अपर मुख्य सचिव पंचायत मनोज कुमार ने जिलाधिकारी तथा सीडीओ को पत्राचार कर प्रदेश में 204 करोड़ रुपये लागत की 2095 किमी सड़कों के शिलान्यास कार्यक्रम से अवगत कराकर तैयारी कराने का आदेश दिया है। इनमें बागपत की 22 सड़कें भी शामिल हैं। 28 नवंबर को होने वाले आनलाइन शिलान्यास समारोह में सांसद और विधायक भी आमंत्रित किए जाएंगे। सीडीओ अभिराम त्रिवेदी ने बताया कि सड़कों के शिलान्यास कराने की तैयारी करने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए गए हैं। इन सड़कों के बनने से बागपत के विकास के विकास को पंख लगेंगे। इसका सर्वाधिक लाभ किसानों को होगा, क्योंकि इन सड़कों के बनने से गन्ना ढुलाई की राह आसान होगी। बता दें कि राज्य सरकार और केंद्र सरकार का पूरा फोकस सड़कों को बनवाने पर हैं।

इन सड़कों का होगा निर्माण

-प्रधानंत्री ग्राम सड़क योजना से दाहा-गढ़ी कांगरान, दाहा बरनावा रोड से पलड़ा, मेरठ-बड़ौत रोड से दादरी, पारसी-बुढ़ाना रोड से सरोरा, मताननगर-काशापुट्ठी, दिल्ली यमुनोत्री रोड से असारा, इदरीशपुर रजवाहा पटरी, कोताना आदिलाबाद रोड से मंगतपुरी, विनयपुर मार्ग और चमरावल-हरसिया मार्ग, मसूरी-सुभानपुर रोड-मसूरी खालसा मार्ग तथा मसूरी सुभानपुर मार्ग का निर्माण-मरम्मत होगा। बाकी दस सड़कें अन्य विभाग की हैं। दो माह बाद ही बड़ौत-मुजफ्फरनगर मार्ग पर सड़क में गड्ढा

बड़ौत-मुजफ्फरनगर मार्ग का निर्माण हुए दो माह भी नहीं हुए कि बामनौली गांव के पास सड़क के बीच गड्ढा हो गया, जिसे ईंटों से भरकर वाहनों के चलने योग्य सड़क बनाया गया है। ग्रामीणों ने बताया कि गड्ढे में पांच दिन के दौरान कई वाहन चालक भी घायल हो चुके हैं। बामनौली गांव में दो दर्जन मकान ऐसे हैं, जिनका पानी सड़क से होकर ही निकलता है। पानी निकासी का रास्ता नहीं बना है। ग्रामीण कई बार नाले की मांग कर चुके हैं, लेकिन यहां पर नाला नहीं बनाया गया।

अवर अभियंता आफताब मलिक ने बताया कि बामनौली गांव में नाले का कोई प्रावधान नहीं है, इसलिए यहां पर कोई नाला नहीं बनाया जाएगा। ग्राम पंचायत को नाले की व्यवस्था करनी चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.