इनामी रहे दो बदमाशों को बी-वारंट पर लेने की तैयारी

इनामी रहे दो बदमाशों को बी-वारंट पर लेने की तैयारी

हिस्ट्रीशीटर परमवीर तुगाना की हत्या के मामले में 50-50 हजार के इनामी रह बदमाशों को बी वारंट पर लाने की तैयारी है।

JagranFri, 16 Apr 2021 12:08 AM (IST)

बागपत, जेएनएन। हिस्ट्रीशीटर परमवीर तुगाना की हत्या के मामले में 50-50 हजार के इनामी रह चुके दो बदमाशों को पुलिस ने बी-वारंट पर लेने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल कर दी है। पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर आरोपितों से पूछताछ करेगी।

छपरौली थाने का हिस्ट्रीशीटर ग्राम तुगाना निवासी परमवीर की 22 जून 2020 की शाम ग्राम कुरड़ी में बदमाशों ने फायरिग की थी। परमवीर की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। छपरौली थाने पर मुकदमा दर्ज कराया गया था।

छपरौली थाना प्रभारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि इस वारदात में शामिल रहे अपराधी राजेश तोमर उर्फ जय निवासी अलीगढ़ को दिल्ली पुलिस और मुस्तफा उर्फ बंटी उर्फ राजेश निवासी सोनीपत (हरियाणा) को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया।

दोनों आरोपितों पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। उन दोनों को बी-वारंट पर लेने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल कर दी गई है। अदालत से अनुमति मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। बता दे कि दोनों आरोपित लखनऊ में पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के केस में भी शामिल रहे है। शूटर की निभाई थी भूमिका

पुलिस का कहना है कि राजेश तोमर व राजेश उर्फ मुस्तफा ने हिस्ट्रीशीटर परमवीर की हत्या में शूटर की भूमिका निभाई थी। दोनों अपराधी शार्प शूटर है। रुपयों के लेनदेन में तो नहीं हुई रिहान की हत्या

रटौल गांव के रिहान की सिर व सीने में गोली मारकर हत्या की गई थी। मृतक के भाई ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। ग्रामीणों के कयास हैं कि रुपयों के लेनदेन में हत्या तो नहीं हुई।

बुधवार रात गांव निवासी रिहान उर्फ टोनी पुत्र अखलाक की अज्ञात बदमाश ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्या से पूर्व रिहान को फोन कर घर से बुलाया था। पोस्टमार्टम में रिहान के सिर व सीने से अलग-अलग गोली निकली। मृतक के भाई पप्पू ने अज्ञात के खिलाफ भाई की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस रिहान की फोन सीडीआर खंगाल रही है। अभी पुलिस के हाथ कोई महत्वपूर्ण सुराग नहीं लगा है। पुलिस ने कई संदिग्ध को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। कुछ ग्रामीणों को कहते भी सुना गया कि मृतक का कोई लोगों से लेनदेन रहता था। हत्या का कारण रुपयों का लेनदेन भी हो सकता है। इसके अलावा भी पुलिस कई बिदुओं पर जांच कर रही है। इंस्पेक्टर रवेंद्र सिंह का कहना है कि मामले की जांच कर जल्द आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.