पहली बार दस्ताने पहनकर मतदान करेंगे मतदाता

पहली बार दस्ताने पहनकर मतदान करेंगे मतदाता

विधान परिषद मेरठ खंड शिक्षक तथा स्नातक सीटों पर एक दिसंबर को प्रात आठ से शुरू होगा।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 11:17 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। विधान परिषद मेरठ खंड शिक्षक तथा स्नातक सीटों पर एक दिसंबर को प्रात: आठ से शाम पांच बजे तक मतदान के दौरान मतदाताओं और कर्मियों को कोरोना से बचाव का पुख्ता इंतजाम किया है। पहले मतदाताओं के हाथ सैनिटाइज करा दस्ताने पहनाकर मतदान कराया जाएगा।

एडीएम अमित कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए पोलिग पार्टियों को मेडिकल किट, दस्ताने और सैनिटाइजर दिए गए। जिला सूचना अधिकारी राहुल भाठी ने बताया कि बूथ परिसर में मतदाता के प्रवेश करते ही उनके हाथ सैनिटाइज कराए जाएंगे तथा पहनने को दस्ताने दिए जाएंगे।

डीडीओ हुब लाल ने बताया कि पोलिग पार्टियों को प्लस आक्सीमीटर तथा इंफ्रोरड थर्मामीटर उपलबध कराए हैं ताकि प्रत्येक मतदाता की थर्मल स्क्रीनिग के बाद मतदान कराया जाए। पीठीसीन अधिकारी व मतदान कर्मी शारीरिक दूरी बनाने का ख्याल रखेंगे। वहीं सोमवार की शाम एडीएम अमित कुमार सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार मिश्र ने बड़ौत में मतदान केंद्र का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। 45 में 40 उम्मीदवार निर्दलीय

विधान परिषद मेरठ खंड की स्नातक व शिक्षक सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों की भरमार है। मेरठ खंड स्नातक सीट पर 30 उम्मीदवारों में 27 निर्दलीय हैं। बाकी तीन उम्मीदवारों में इंडियन नेशनल कांग्रेस से जितेंद्र कुमार गौड़, भाजपा से दिनेश कुमार गोयल और सपा से शमशाद अली एडवोकेट हैं। वहीं शिक्षक सीट पर 15 में ओमप्रकाश शर्मा समेत 13 उम्मीदवार निर्दलीय हैं जबकि सपा से धर्मेंद्र कुमार और भाजपा से श्रीचंद शर्मा अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। मतदान केंद्र पहुंचीं पोलिग पार्टियां, आज मतदान

शिक्षक व स्नातक एमएलसी चुनाव के लिए सोमवार शाम को पोलिग पार्टियां कलक्ट्रेट से चुनाव सामग्री लेकर मतदान केंद्र पर पहुंची। ब्लाक के तीन बूथ के लिए पार्टियों के पहुंचने के कुछ देर बाद डीएम शकुंतला गौतम ने बूथों का जायजा लिया। सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली। उन्होंने एसडीएम को चुनाव शांतिपूर्वक कराने व सुरक्षा को विशेष बंदोबस्त रखने के निर्देश दिए।

बता दें कि ब्लाक के तीन बूथ पर लगभग 400 शिक्षक, 1500 स्नातक मतदान करेंगे। बूथों पर शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए दो गज की दूरी पर गोले भी बनाए हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.