सूप में लेखपाल को दौड़ाया, जेसीबी पर कि या पथराव

हाईकोर्ट के आदेश के बाद सूप गांव में खाद के गड्ढे की सरकारी जमीन पर सालों से किए कब्जे को हटवाया।

JagranFri, 30 Jul 2021 09:41 PM (IST)
सूप में लेखपाल को दौड़ाया, जेसीबी पर कि या पथराव

बागपत, जेएनएन। हाईकोर्ट के आदेश के बाद सूप गांव में खाद के गड्ढे की सरकारी जमीन पर सालों से किए गए अवैध कब्जे को पुलिस-प्रशासन की टीम ने बलपूर्वक हटा दिया। इस दौरान टीम को भारी विरोध और पथराव का सामना करना पड़ा। लेखपाल को दौड़ा दिया गया और जेसीबी पर पथराव किया गया।

सूप गांव में खाद के गड्ढे की सरकारी जमीन पर गांव के ही रिषिपाल पुत्र अजबसिंह द्वारा चहारदीवारी का निर्माण करा कर कमरा बना लिया था। खाद गड्ढे की सरकारी जमीन का मामला हाईकोर्ट में पहुंचा। हाईकोर्ट ने शासन-प्रशासन को उक्त जमीन अतिक्रमण मुक्त कराने का आदेश दिया, जिसके बाद तहसीलदार प्रदीप कुमार के नेतृत्व में पहुंचे कानूनगो सेवकराम लेखपाल शशांक ने अपनी उपस्थिति में जेसीबी मशीन से अतिक्रमण को ढहा दिया। मकान तोड़ने की कार्रवाई के दौरान कुछ महिलाओं ने गाली-गलौज करते हुए लेखपाल शशांक को दौड़ा लिया। पुलिस ने किसी तरह मामले को संभाला। इसके अलावा जेसीबी पर भी पथराव किया गया, जिसके चलते चालक जेसीबी मौके पर ही छोड़कर जान बचाकर जंगल की ओर भाग निकला। बाद मे पुलिस ने मोर्चा संभाला।

भारी विरोध को देखते हुए रमाला, दोघट पुलिस व पीएसी महिला पुलिस तैनात रही। उधर, कब्जाधारी रिषिपाल ने कहा कि यह उनकी बैनामे की जमीन है। चुनाव में एक पक्ष को वोट न देने के कारण उनके खिलाफ यह साजिश रची गई। वह इसके लिए मुख्यमंत्री के दरबार मे गुहार लगाएंगे। महिला ने किया आत्महत्या का प्रयास

नगर पालिका परिषद की टीम के सदस्य नेहरू मूर्ति के पास जमीन को खाली कराने पहुंचे। इसी बीच एक महिला वहां पर पहुंच गई और विरोध करते हुए टीम के सदस्यों के साथ उलझ गई।

महिला के स्वजन ने बताया कि जिस भूमि पर टीम के सदस्य कब्जा हटवाने गए थे, उस पर अदालत में मुकदमा चल रहा है। इस दौरान महिला और उसके बच्चों ने हाई वोल्टेज हंगामा किया। सूचना पर कोतवाली पुलिस ने महिला को रोकने का प्रयास किया, लेकिन महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। महिला जब फांसी लगा रही थी तो मौके पर मौजूद लोग वीडियो बनाते हुए उसे देख रहे थे। इसी दौरान परिवार की एक महिला ने दूसरे लोगों की मदद से फांसी का फंदा काटते हुए उसे बचा लिया, जिसके बाद नगर पालिका की टीम मौके से वापस गई।

पालिका चेयरमैन अमित राणा ने बताया कि महिला व परिवार के सदस्यों ने जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा है। सीओ आलोक सिंह ने बताया कि घटना की तहरीर नहीं आई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.