top menutop menutop menu

बिजरौल में तीन महिलाओं समेत 15 के खिलाफ मुकदमा

बागपत, जेएनएन। शहर में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है, लेकिन कुछ दुकानदार न तो गाइड लाइन का पालन कर रहे हैं और न ही रोस्टर के अनुसार दुकान खोल रहे हैं। पुलिस गश्त पर निकली तो नियम विरुद्ध दुकान खोलने वाले लोग अपनी दुकानों के शटर गिराकर फरार हो गए। पुलिस ने सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उधर, बिजरौल में भी तीन महिलाओं समेत 15 के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।

कोतवाली प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने बताया कि वह पुलिस टीम के साथ शहर में कोरोना वायरस की रोकथाम व धारा 144 का पालन कराने के लिए गश्त पर थे। निखिल सिघल, आकाश जैन, सुखबीर सिंह, गोयल बोगी स्टोर बडा़ैत के मालिक, उमेश गर्ग, अग्रवाल मशीनरी सैनेट्री स्टोर, अभिषेक जैन, वीके ट्रेडर्स के मालिक, श्री आदिनाथ समर्सीबल व सैनेट्र स्टोर के मालिक, पा‌र्श्वनाथ प्लाईवुड एंड हार्डवेयर के मालिक, पदमावती हार्डवेयर स्टोर संजय मूर्ति के मालिक, बब्बर एंड बब्बर कंपनी के मालिक, बिग मोबाइल सेंटर के मालिक, आलोक जैन शाम छह से सात बजे के बीच लॉकडाउन का पालन न करते हुए रोस्टर के अनुसार दुकान नहीं खोल रहे थे। यही नहीं धारा 144 का उल्लंघन करते हुए कंटेनमेंट जोन में दुकानों के सामने भीड़ को बिना शारीरिक दूरी के सामान बेच रहे थे। आरोपित पुलिस को देखते हुए अपनी दुकानों के शटर गिराकर फरार हो गए। इन सभी के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उधर, दारोगा तंवेंद्र सिंह ने मुकदमा मुकदमा दर्ज कराया कि वह कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए बिजरौल गांव में गश्त कर रहे थे। रात साढ़े आठ बजे के बाद अभिनव, रवि, रिषीपाल, दीपक, कुसुम, संतोष, रोशनी, सागर, दर्शनपाल, कालूराम, रिटू, जितेंद्र, अशफाक, शहजाद, लविश, नवीन व राहुल निवासी बिजरौल धारा 144 का उल्लंघन कर रहे थे। ये लोग भीड़ लगाए खड़े थे और चेहरे पर मास्क भी नहीं लगा रखा था। छपरौली में भी बढ़ रहा संक्रमण

संवाद सूत्र, छपरौली: छपरौली कस्बे के बाजार को सैनिटाइज कर सील कर दिया गया। दोपहर के समय पुलिस, स्वास्थ्य विभाग एवं नायब तहसीलदार छपरौली बाजार में पहुंचे और व्यापारियों से कहा कि छपरौली कस्बे को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया जाता है क्योंकि यहां पर कोरोना पॉजिटिव की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसके बाद बाजार को सैनिटाइज किया गया और चारों तरफ से सील कर दिया गया। कस्बे में मेडिकल स्टोर ही खुले छोड़े गए। सीएचसी अधीक्षक डाक्टर अजेंद्र मलिक का कहना है कि अभी डीएम के कंटेनमेंट क्षेत्र की घोषणा के मौखिक आदेश ही मिले हैं, लिखित आदेश मिलने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.