भगवान पारसनाथ की पालकी यात्रा में भजनों पर झूमे श्रद्धालु

दिगंबर जैन मंदिर से भगवान पारसनाथ की पालकी यात्रा निकाली गई। लकी ड्रा से भगवान के साथ चलने का मौका मिला। विभिन्न मार्गो से होते हुए यात्रा मंदिर से लौटकर संपन्न हो गई।

JagranTue, 21 Sep 2021 06:48 PM (IST)
भगवान पारसनाथ की पालकी यात्रा में भजनों पर झूमे श्रद्धालु

बागपत, जेएनएन। दिगंबर जैन मंदिर से भगवान पारसनाथ की पालकी यात्रा निकाली गई। लकी ड्रा से भगवान के साथ चलने का सौभाग्य मिला। यात्रा के दौरान भजनों पर श्रद्धालु झूम उठे। विभिन्न मार्गों से होते हुए यात्रा मंदिर पर आकर संपन्न हो गई।

श्री दिगंबर जैन बड़ा मंदिर बागपत में वार्षिक रथयात्रा महोत्सव के दिन मंगलवार को सर्वप्रथम मूलनायक भगवान श्री 1008 अजितनाथ भगवान, शांतिनाथ भगवान और नेमिनाथ भगवान की मुख्य वैदियों में शुद्ध जल से भगवान का मंगल अभिषेक किया गया। रथ यात्रा महोत्सव के लिए भगवान पारसनाथ की प्रतिमा की इंद्र द्वारा पूजा अर्चना की। लकी ड्रा द्वारा श्रीजी को ले जाने की बोली पवन जैन, खजांची की बोली विकास जैन, सारथी की बोली वीरेंद्र जैन, और चंवर की बोली श्रेयांश जैन को प्राप्त हुई। उसके उपरांत भगवान पारसनाथ की प्रतिमा को इंद्रों ने पालकी में विराजमान किया। श्रद्धालुओं ने भगवान की पालकी के आगे भक्तिभाव में सराबोर होकर नृत्य किया। यात्रा जैन मोहल्ला स्थित श्री अजितनाथ दिगंबर जैन मंदिर बागपत से चलकर गांधी बाजार, बड़ा बाजार आदि नगर का भ्रमण करके पुन: श्री दिगंबर जैन मंदिर बागपत में पांडुक शिला पर पहुंची, जहां भगवान को पांडुकशिला विराजमान करके उनका अभिषेक किया गया। भगवान को पुन: वेदी पर विराजमान किया। जैन समाज के अध्यक्ष पंकज जैन, कोषाध्यक्ष पीयूष जैन, प्रबंधक मुन्ना जैन, उपाध्यक्ष रवि जैन, सचिन जैन, संरक्षक शिखर चंद जैन, पंडित हंसराज, मयंक जैन, विनीत जैन, संजीव जैन, मनीष जैन, कमल जैन, सुनील जैन, अनमोल जैन, तरुण जैन, विकास जैन, नीलम जैन, मीनू जैन, बबीता, लवली, पलकी, आस्था आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.