खामियां देख हैरान रह गईं मंडलायुक्त

बागपत, जेएनएन। शासन के आदेश पर मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने बागपत में महिला परक योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा के उपरांत जमीनी सच जाने को स्थलीय निरीक्षण भी किया। चप्पे-चप्पे पर खामियों का अंबार मिलने से मंडलायुक्त हैरान रह गईं। मंडलायुक्त ने राजकीय कन्या इंटर कालेज बागपत में 40 फीसद बालिकाओं के आइ कार्ड नहीं मिले। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में महज सात बालिकाओं के आवेदन मिलने पर सुधार का निर्देश दिया।

मंडलायुक्त के सवाल करने पर बालिकाओं ने जवाब दिया कि छात्रवृत्ति मिलती है। गणित के बजाय गृह विज्ञान पंसद हैं। बालिकाओं ने कहा हमें महिला हेल्पलाइन 181, डायल-100, महिला हेल्पलाइन-1090, एंटी रोमियो व गुड एंड बैड टच की जानकारी है। प्रधानाचार्य डा. प्रीति शर्मा ने हाईस्कूल का 89 फीसद व इंटर का 96 फीसद परिणाम रहा था। पांच टीचर कम होने से परेशानी होती है। वहीं महिला अस्पताल तथा वन स्टॉप सेंटर यानी महिला हेल्पलाइन-181 का निरीक्षण किया जहां सबकुछ सही मिला। डीएम शकुंतला गौतम, आइपीएस दीक्षा शर्मा, सीडीओ पीसी जायसवाल तथा ज्वाइंट मजिस्ट्रेट पुलकित गर्ग मौजूद रहे।

टॉयलेट से लेकर किचन तक गंदी

मंडलायुक्त को प्राथमिक स्कूल नंबर एक सिसाना में टॉयलेट बेहद गंदा मिला। मिड डे मील की गुणवत्ता व वितरण सही मिला लेकिन किचन में गंदे अखबार और

मसालों के खाली डब्बे मिले। कुछ बच्चे बिना जूते के मिलने पर मंडलायुक्त के नाराजगी जताने पर बीएसए ने जवाब दिया कि जिले में 2200 बच्चों के जूते छोटे बड़े आ गए जिन्हें बदलने भेजे हैं। एक बच्चे को बिना ड्रेस देखा तो दूसरे बच्चों ने बताया कि इसने शर्ट उतारकर बैग में रख दी और टी-शर्ट पहन ली। सीडीओ ने बैग चेक किया तो ड्रेस की शर्ट मिली। वाटर हार्वेस्टिग देखा तथा किताब वितरण की जानकारी ली।

..और दिखाया पुराना रजिस्टर

प्राथमिक स्कूल की अध्यापिका के गत साल का रजिस्टर दिखाने पर मंडलायुक्त ने नाराज हो गई। अध्यापिका चालू साल का रजिस्टर लाने की बात कहकर फिर नहीं आई। देर तक नहीं आई। मंडलायुक्त ने सुधार के निर्देश दिए। पूछने पर बालिकाएं पीएम नरेंद्र मोदी का पूरा नाम नहीं बता सकीं। एक बालिका ने सीएम का नाम पूछने पर मोदी जी बताया लेकिन डीएम ने टोका कि मोदी जी नहीं बल्कि योगी आदित्यनाथ जी सीएम हैं। ये तो डीआइओएस सर हैं..

मंडलायुक्त के राजकीय कन्या कालेज में पूछने पर बालिकाओं ने जवाब दिया कि ये डीआइओएस ब्रजेंद्र कुमार सर हैं..। इन्हें हम जानती हैं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.