मुख्यमंत्री ने कोरोना से अभिभावकों को खो चुके बच्चों का बढ़ाया हौसला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम सिसाना के उच प्राथमिक विद्यालय में विभिन्न विभागों के स्टाल का निरीक्षण किया।

JagranThu, 29 Jul 2021 08:33 PM (IST)
मुख्यमंत्री ने कोरोना से अभिभावकों को खो चुके बच्चों का बढ़ाया हौसला

बागपत, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम सिसाना के उच्च प्राथमिक विद्यालय में विभिन्न विभागों के स्टाल का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने कोरोना से माता या पिता को खोने वाले पांच बच्चों का हाल जाना और उनका हौसला बढ़ाया। साथ ही बच्चों को मेहनत से पढ़ाई करने के लिए प्रेरित किया। वादा किया कि सरकार उनके साथ है। हर संभव मदद की जाएगी। वहीं स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ को कोरोना की तीसरी लहर को रोकने की तैयारी करने के निर्देश दिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने चार गर्भवतियों की गोद भराई की रस्म की।

बागपत दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार सुबह 11.23 बजे सिसाना के विद्यालय में पहुंचकर एनआरएलएम के स्वयं सहायता समूह द्वारा लगाई गई स्टाल का निरीक्षण किया। उवेस समूह बड़ागांव की अध्यक्ष रुखसाना, राधा स्वयं सहायता समूह की कोषाध्यक्ष पूनम, नैथला के वैष्णवी स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष रीना, सिघावली अहीर के गणेश स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष उमा से समूह के बारे में जानकारी कर आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया। कोरोना निगरानी समिति के स्टाल पर पहुंचकर बागपत सीएचसी अधीक्षक डा. विभाष राजपूत, एएनएम व आशाओं से कोरोना रोधी टीकाकरण व अन्य जानकारी लीं। अवगत कराया कि कोरोना की तीसरी लहर पर काबू पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण किया जाए। इसके लिए सर्विलांस का कार्य करें। बच्चों को मेडिकल किट का वितरण हो।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत निश्शुल्क राशन वितरण संबंधित जानकारी प्राप्त की। बाल विकास सेवा पुष्टाहार योजना संबंधित स्टाल पर पहुंचकर गर्भवती महिला दीपा, पायल, बंटी व दीपा की गोद भराई की रस्म पूरी की। इस दौरान एक बच्चे को दुलार किया और उसे मिठाई खिलाई। विधवा, पेंशन, वृद्धा पेंशन, दिव्यांग पेंशन के नवीन पांच लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र व प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के दो लाभार्थियों को चाबी देकर सम्मानित किया गया। 11.34 बजे स्कूल से कलक्ट्रेट के लिए रवाना हुए।

बच्चों को चाकलेट के साथ दिए स्कूल बैग

विद्यालय में बाल सेवा योजना के स्टाल पर मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के संक्रमण में माता व पिता को खो चुके तीन परिवार के पांच बच्चों से बात की। मुख्यमंत्री ने बच्चों से पढाई के बारे में पूछा तथा उन्हें बाल सेवा योजना के तहत 11-11 हजार रुपये की धनराशि की एफडी, स्कूल बैग, दो जोड़ी कपड़े, चाकलेट व प्रमाण पत्र दिए। साथ ही बच्चों का हौसला बढ़ाया और उन्हें हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया।

मोहल्लों में बच्चों का ग्रुप बनाकर पढ़ाओ

मुख्यमंत्री ने स्कूल की स्मार्ट क्लास का जायजा लिया। शिक्षकों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा-दीक्षा देने के निर्देश दिए। शिक्षिका रीना कुमारी और अंजुम गनी से मिशन प्रेरणा के बारे में जानकारी की। शिक्षिका रीना कुमारी बताया कि मुख्यमंत्री ने उसने पूछा कि स्कूल में बच्चे नहीं आ रहे हैं, ऐसे में बच्चों को कैसे पढ़ाया जा रहा है। अवगत कराया गया कि वाट्सएप के माध्यम से। मुख्यमंत्री बोले कि जिनके पास स्मार्टफोन नहीं है। उन बच्चों की पढ़ाई कैसे होती है। बताया गया कि प्रेरणा साथी के सहयोग से गांव में जाकर बच्चों को पढ़ाया जाता है। फिर मुख्यमंत्री ने कहा कि मोहल्लों में जाकर बच्चों के ग्रुप बनाकर पढ़ाया जाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.