पालीथिन से अटा अटा पड़ा नाला, निकासी हुई बाधित

पालीथिन से अटा अटा पड़ा नाला, निकासी हुई बाधित

शहर का मुख्य नाला गंदगी और पालीथिन से अटा हुआ है जिसके कारण शहर के नाले बंद हैं।

Publish Date:Sun, 29 Nov 2020 09:59 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। शहर का मुख्य नाला गंदगी और पालीथिन से अटा हुआ है, जिसके कारण शहर के पानी की निकासी बाधित हो रही है।

यह नाला शहर से हाईवे के नीचे होता हुआ पूर्वी यमुना नहर पर पहुंचा है। यहां नहर के नीचे से होता हुआ खेतों की ओर जाता है। पिछले काफी समय से नाला गंदगी और पालिथीन से अटा पड़ा है, जिसके कारण शहर के गंदे पानी की निकासी बाधित रहती है। विनोद, राकेश, सोहन आदि लोगों ने नगर पालिका से नाले की सफाई कराने की मांग की है। एसडीएम दुर्गेश कुमार मिश्र ने बताया कि नाले की सफाई कराई जाएगी। हालांकि कोई ऐसी शिकायत नहीं मिली है जिसमें यह सामने आया हो कि नाले के पानी की निकासी बाधित हो रही हो। वन क्षेत्र के पास घायल हिरन को ग्रामीणों ने बचाया

रंछाड़ गांव के वन क्षेत्र के पास घायल व ²ष्टिहीन बारहसिघा हिरण को ग्रामीणों ने कुत्तों के चंगुल से छुड़ाकर बचाया और वन कर्मियों को सौंप दिया। रंछाड़ गांव में वन क्षेत्र के पास रास्ते पर बारहसिघा हिरण को कुत्तों ने घायल कर दिया। खेत पर जा रहे रविद्र हट्टी, रामकुमार, सुधीर, हरेंद्र, ओमवीर आदि किसानों ने घायल हिरण को कुत्तों से छुड़ाया। देखने पर पता चला कि हिरण ²ष्टिहीन है। किसानों ने वन रेंजर राजपाल सिंह को बारहसिघा के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद वन रक्षक मोहित चौधरी व संजय मौके पर पहुंचे। किसानों ने हिरण को वनकर्मियों को सुपुर्द किया। रेंजर ने बताया कि बारहसिघा को सुरक्षित स्थान पर छोड़ा जाएगा। कक्षा 12 के टापर व बुजुर्गो को किया सम्मानित

विनयपुर गांव में समाज में बेहतर कार्य करने वाले बुजुर्ग व कक्षा 12 के विद्यार्थी को सम्मानित किया। विनयपुर गांव के पूर्व प्रधान मनोज कुमार के आवास पर सम्मान समारोह हुआ। समाज के लिए बेहतर कार्य करने वाले 80 वर्ष से अधिक आयु की महिला व पुरुषों को सम्मानित किया। सरफाबाद के जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 12 के टापर छात्र आशीष पुत्र हरेंद्र भी स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।

सम्मानित बुजुर्ग धर्मदेव, धर्मचंद, खेमचंद, रिछपाल, हाकिम अली, शबाना, हसीना व बुद्धो ने युवाओं को भविष्य में गांव व समाजहित में कार्य करने के लिए प्रेरित किया। सुरेश, बिरजेश, महेंद्र, धर्मवीर आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.