पैसा खर्च करने को डिजिटल सिग्नेचर बनवा लें प्रधान

ग्राम पंचायतों में नई सरकार का गठन होने के बाद अब पंचायत राज विभाग ने गांवों के विकास पर फोकस किया है।

JagranFri, 18 Jun 2021 09:24 PM (IST)
पैसा खर्च करने को डिजिटल सिग्नेचर बनवा लें प्रधान

जेएनएन, बागपत: ग्राम पंचायतों में नई सरकार का गठन होने के बाद अब पंचायत राज विभाग गांवों के विकास पर फोकस किया है।

जिला पंचायत राज अधिकारी कुमार अमरेंद्र ने बताया कि नव निर्वाचित प्रधानों के डिजिटल सिग्नेचर बनवाया जा रहा है।

अब तक 143 प्रधानों के डिजिटल सिग्नेचर बनवाकर एक्टिव करा दिए। बाकी प्रधानों को भी डिजिटल सिग्नेचर बनवाने में तत्परता दिखानी चाहिए। जब तक डिजिटल सिग्नेचर नहीं बनेंगे तब तक पैसा खर्च ग्राम पंचायतों में विकास कार्य नहीं करा सकेंगे। प्रधान और पंचायत सचिवों के डिजिटल सिग्नेचर से किया जाता है भुगतान। बता दें कि ग्राम पंचायतों के पस बजट की कोई कमी नहीं है, क्योंकि 18 करोड़ रुपये उनके खाते में हैं। साहब, ग्राम प्रधान के स्वजन ने

तालाब पर किया कब्जा, विरोध

संवाद सहयोगी, खेकड़ा : जहां एक ओर फखरपुर गांव में तालाब पर हुए अतिक्रमण से गलियों में गंदा पानी भरा है, वहीं ग्राम प्रधान के स्वजन ने भी तालाब व चकरोड पर कब्जा कर लिया है। शिकायतकर्ता ने जमीन कब्जा मुक्त नहीं होने पर आमरण अनशन करने की चेतावनी दी है।

गांव निवासी कृष्णपाल तेवतिया ने इस संबंध में डीएम से शिकायत करते हुए बताया कि हाल ग्राम प्रधान के स्वजन ने गांव स्थित एक तालाब (खसरा नं. 221) पर अवैध कब्जा किया है। इसके अलावा मौजा सिकंदरपुर स्थित चकरोड खसरा नं. 524 में खसरा नं. 550 पर भी कब्जा है। कई बार कब्जा हटवाने के लिए तहसील स्तर पर शिकायत की गई, लेकिन प्रधान पति सांठगांठ कर मामले को दबा देता है। अब परिवार से महिला के प्रधान बनने के बाद गलत तरीके से प्रस्ताव कर जमीन को अपने हक में कराना चाहता है। उन्होंने डीएम से कब्जा हटवाने की मांग की। जल्द कब्जा नहीं हटने पर आमरण अनशन करने की चेतावनी भी दी। पीड़ित का आरोप है कि शिकायत करने पर आरोपित पक्ष धमकी भी दे रहा है। एसडीएम अजय कुमार का कहना है कि मामले की जांचकर उचित कार्यवाही की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.