किसानों ने किया कृषि कानून खत्म करने को प्रदर्शन

किसानों ने किया कृषि कानून खत्म करने को प्रदर्शन

भारतीय किसान संगठन के जिलाध्यक्ष महीपाल सिंह के नेतृत्व में किसानों ने सोमवार को प्रदर्शन किया।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:56 PM (IST) Author: Jagran

बागपत, जेएनएन। भारतीय किसान संगठन के जिलाध्यक्ष महीपाल सिंह के नेतृत्व में किसानों ने सोमवार को कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर नए कृषि कानूनों का विरोध किया। किसानों ने एसडीएम रामनयन सिंह को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन देने के बाद दिल्ली में किसानों पर हुए लाठीचार्ज और पानी की बौछार करने की निदा की।

इसके बावजूद किसान मानने को तैयार नहीं हैं। किसानों ने कहा कि हमारी मांगें मानी जाएं।

उन्होंने राष्ट्रपति से किसानों की रक्षा करने, बकाया गन्ना भुगतान कराने, गन्ना मूल्य 450 रुपये करने, बिजली की बढ़े मूल्य को कम करने, ऊर्जा निगम का निजीकरण नहीं करने तथा नए कृषि कानून खत्म करने की मांग की है। किसानों ने कहा कि उत्पीड़न सहन नहीं करेंगे। इस दौरान राकेश गुर्जर, नवीन त्यागी, आकाश और मोहम्मद आलिम समेत अनेक किसान मौजूद रहे।

-----------

दिल्ली के यूपी गेट पहुंचे किसान

बागपत: भारतीय किसान यूनियन के नेता चौ. इंद्रपाल सिंह के नेतृत्व कें सोमवार को कुछ किसान दिल्ली के यूपी गेट पहुंचे। चौ. इंद्रपाल सिंह ने बताया कि हम पहले ही दिन से यूपी गेट पर धरना दे रहे भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत के साथ हैं, लेकिन

कपड़े बदलने के लिए बागपत आए थे। अब फिर दिल्ली जा रहे हैं।

--------

काले कानून वापस ले सरकार: ओमबीर ढाका

बागपत: रालोद नेता ओमबीर ढाका ने पार्टी के जिला कार्यालय पर बैठक में कहा कि पांच दिन से किसान दिल्ली में आंदोलन

कर रहे हैं, लेकिन सरकार चुप है। सरकार को काले कानून यानी नए कृषि कानून वापस लेने चाहिए। स्व. चौधरी चरण सिंह सहकारी खेती के विरोधी रहे हैं। योगेंद्र, जितेंद्र, कवरपाल, कलीम अल्वी आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.