जोनमाना में एचटी लाइन का तार टूटने से 40 बीघा फसल जली

जोनमाना में एचटी लाइन का तार टूटने से 40 बीघा फसल जली

जोनमाना गांव में हाईटेंशन विद्युत लाइन का तार टूटकर आग लगने से दर्जन भर किसानों की ईख व गेहूं की करीब 40 बीघा फसल जल गई। पीड़ित किसानों ने प्रशासन से मुआवजा दिलाने की मांग की है।

JagranWed, 21 Apr 2021 12:35 AM (IST)

जेएनएन, बागपत। जोनमाना गांव में हाईटेंशन विद्युत लाइन का तार टूटकर आग लगने से दर्जन भर किसानों की ईख व गेहूं की करीब 40 बीघा फसल जल गई। पीड़ित किसानों ने प्रशासन से मुआवजा दिलाने की मांग की है।

मंगलवार को जोनमाना गांव में खेतों के ऊपर से जा रही जर्जर एचटी लाइन का तार टूटकर गिर गया, जिससे गेहूं और गन्ने की फसल में आग लग गई। इस दौरान आग तेजी से फैली और आसपास के कई किसानों के खेतों में खड़ी फसल को अपनी चपेट में ले लिया। सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग बुझाने का प्रयास किया। आग इतनी विकराल थी कि लोगों के सभी प्रयास विफल हो गए। आग से देवी सिंह, चंदपाल, कृष्णा, सुनीता, विक्रम, जयपाल आदि किसानों की गेहूं व गन्ने की फसल जलकर नष्ट हो गई। ऊर्जा निगम के अधिकारी ने आग से जली फसल का मुआयना कर नुकसान का आंकलन किया। भड़ल का पानी बना सिरदर्द

भड़ल गांव का पानी क्षेत्रवासियों के लिए ही नहीं, आम जन के लिए भी मुसीबत बना हुआ है। पानी से बड़ौत-मुजफ्फरनगर मार्ग टूटने लगा है। सीसी रोड के नीचे से होकर पानी निकल रहा है। शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं किए जाने पर क्षेत्रवासियों ने धरना देने की चेतावनी दी है।

रामपाल, हरेंद्र, जितेंद्र, मुकेश, अजय, सुरेश, सुनील कुमार आदि ने बताया कि भड़ल गांव के पानी की निकासी सड़क किनारे नाली में की गई है, जबकि छोटा नाला गैडबरा गांव के सामने तक बना हुआ है। गांव का पानी पहले गैडबरा बस स्टैंड पर भरने से उसमें गढ्ढे बन गए थे। अब यह पानी लगभग दस मीटर सीसी रोड के नीचे से होकर दूसरी तरफ निकलने लगा है, जिससे मार्ग टूटने का खतरा और बढ़ गया है। वहीं इससे मार्ग पर आए दिन हादसे भी हो रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इस पानी से पनप रहे मच्छरों से भी कई गांवों के लोगों में बीमारी होने की आशंका बनी हुई है। इसकी शिकायत कई बार अधिकारियों से कर चुके हैं, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं कराया है जिससे नाराज क्षेत्रवासियों ने चेतावनी दी कि एक सप्ताह के अंदर यदि इस पानी की समस्या का समाधान नहीं कराया तो वे धरना शुरू करेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.