कोरोना ने बढ़ाया सरकारी स्कूलों का क्रेज

कोरोना ने बढ़ाया सरकारी स्कूलों का क्रेज

कोरोना काल में सरकारी स्कूलों का क्रेज बढ़ा है। बिना किसी प्रचार व अभियान के गत वर्ष के सापेक्ष बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 10696 बच्चों के पंजीयन में इजाफा हुआ है। जबकि निजी स्कूलों के प्रवेश में गिरावट दर्ज हो रही है।

JagranThu, 15 Apr 2021 01:36 AM (IST)

जेएनएन, शाहजहांपुर : कोरोना काल में सरकारी स्कूलों का क्रेज बढ़ा है। बिना किसी प्रचार व अभियान के गत वर्ष के सापेक्ष बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 10,696 बच्चों के पंजीयन में इजाफा हुआ है। जबकि निजी स्कूलों के प्रवेश में गिरावट दर्ज हो रही है।

जनपद में 1808 प्राथमिक विद्यालय, 516 उच्च प्राथमिक तथा 461 संविलियन विद्यालय है। कुल 2,785 विद्यालयों में 3,95,283 बच्चे पंजीकृत है। जबकि गत वर्ष 3,84,587 बच्चे पंजीकृत थे। कोरोना काल में निजी विद्यालयों से फीस का दबाव देख अभिभावकों ने नाम कटाकर सरकारी स्कूलों में प्रवेश को महत्व दिया। इससे हथौड़ा गांव के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय में गत वर्ष के सापेक्ष 20 फीसद प्रवेश संख्या बढ़ी है। हथौडा मॉडल स्कूल की प्रधानाचार्य सुखमीत कौर बताती है कि प्रत्येक कक्षा में अभिभावकों ने आग्रह करके बच्चें को प्रवेश दिलाया है। निजी स्कूलों से आने वाले बच्चों का शपथ पत्र लेकर प्रवेश दे दिया। अभी तक अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई के कारण निजी स्कूलों में प्रवेश की कतार रहती थी। वर्तमान में 150 के करीब बेसिक विद्यालय अंग्रेजी माध्यम से संचालित है। इनमें 33 मॉडल स्कूल के रूप में चिह्नित है। शिक्षा का स्तर भी सुधरा है। इससे सरकारी स्कूलों में पंजीयन बढ़ा है।

वर्जन

कोरोना काल में निजी स्कूल प्रबंधक बच्चों पर फीस का दबाव नहीं बना सकते। कोई अभिभावक फीस न दे पाने का शपथ पत्र देकर प्रवेश का आग्रह करता है तो बच्चें को तत्काल प्रवेश दिलाया जा रहा है। सभी प्रधानाध्यापकों को ऐसे बच्चों के प्रवेश को वरीयता के लिए कहा है। शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार से प्रवेश संख्या बढ़ी है।

शौकीन सिंह यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फैक्ट फाइल

- 3,84,587 बच्चे गत वर्ष 2019-20 में 3,295 स्कूलों में हुए पंजीकृत

- 3,95,283 बच्चों का 2,785 स्कूलों में चालू वित्तीय वर्ष 2029-21 में अब तक पंजीकृत

- 10,696 बच्चों का गत वर्ष के सापेक्ष अधिक हुआ प्रवेश

- 1,97,293 बच्चों का इस वर्ष प्राथमिक कक्षाओं में हुआ प्रवेश

- 67,687 बच्चों का 510 उच्च प्राथमिक में पंजीयन,

- 1,30,283 बच्चे 461 संविलियन विद्यालयों में पंजीकृत किए गए - 1,331 प्राथमिक मदरसा तथा 455 उच्च प्राथमिक मदरसा में गत वर्ष बच्चों का पंजीयन

- 1,541 प्राथमिक 583 उच्च प्राथमिक मदरसा में इस वर्ष पंजीकृत हुए बच्चे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.