भैंसही नदी व समेंदा ताल में बाढ़, ढाई दर्जन गांव प्रभावित

-परेशानी -ग्रामीणों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन आकलन कर मुआवजे की मांग -हजारों एकड़ ड

JagranTue, 21 Sep 2021 07:07 PM (IST)
भैंसही नदी व समेंदा ताल में बाढ़, ढाई दर्जन गांव प्रभावित

-परेशानी :::

-ग्रामीणों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन, आकलन कर मुआवजे की मांग

-हजारों एकड़ डूब गई है धान की फसल, घरों में घुसा पानी

-कई कच्चे मकान हो गए हैं जमींदोज, काफी हुआ नुकसान

जागरण संवाददाता, आजमगढ़: छह दिन पूर्व अतिवृष्टि से विकास खंड जहानागंज क्षेत्र में बहने वाली भैंसही नदी और समेंदा ताल में भी बाढ़ आ गई है। लगभग ढाई दर्जन गांवों के किसानों की धान की फसल डूब गई है। हजारों एकड़ धान की फसल से दो से ढाई फीट ऊपर पानी बह रहा है। लोगों के घरों में पानी घुस गया है। कई लोगों के कच्चे मकान जमींदोज हो गए हैं। जिससे काफी नुकसान हुआ है। मंगलवार को ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा और मांग की कि बाढ़ से प्रभावित फसल और गिर मकानों का आकलन कराकर उचित मुआवजा दिलाया जाए।

पूर्व दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री रामदुलार राजभर व पूर्व जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर यादव के नेतृत्व में कोईलारी, अतरारी, बजहां, पुनर्जी, इदिलपुर, खेमाजीत, बरहतिर जगदीशपुर, चक अब्दुल मलिक, रोशनपुर, निजामपुर, बोहना, सेमरौल, लक्ष्मीपुर, जनकपुर, परासी, भरपुरा, नवापुरा खालसा, सुहवल, छतउर, खरका, मटही, टेल्हुआ, काजीपुर, गोड़सर, कारीसाथ, तुलसीपुर आदि गांवों के ग्रामीणों ने मुआवजे के लिए जिलाधिकारी से गुहार लगाई। ज्ञापन सौंपने वालों में सपा महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष बबिता चौहान, गुलाबचंद चौहान, कैलाश यादव, रामकेश यादव, रामलखन मौय, रमेश राजभर, धर्मराज, राजकुमार, पप्पू यादव, नन्हकू मौर्य आदि थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.