top menutop menutop menu

नेत्र परीक्षण के साथ ही यातायात नियमों का सुझाव

जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : शासन के निर्देश पर संभागीय परिवहन विभाग द्वारा तृतीय सड़क सुरक्षा सप्ताह जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को रोडवेज भवन परिसर में नेत्र परीक्षण शिविर एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान 78 चालक एवं परिचालकों के नेत्र की जांच की गई तथा यातायात नियमों के प्रति सुझाव दिया गया। इस दौरान पूरे परिसर में चालक, परिचालक एवं यात्रियों को पंफलेट देकर यातायात नियमों का पालन करने का आग्रह किया गया।

डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर लक्ष्मीकांत मिश्रा ने कहा कि शराब पीकर वाहन कभी भी न चलाएं। खुद के साथ दूसरों की जिदगी को खतरे में न डालें। वाहन चलाते समय जिम्मेदार बनें और बाएं से ओवरटेक न करें। वाहन चलाते समय मोबाइल से बात न करें। आरटीओ रामवृक्ष सोनकर ने चालकों एवं परिचालकों को जागरूक करते हुए नियंत्रित गति सीमा में वाहन चलाने एवं सीट बेल्ट लगाकर वाहन चलाने का आह्वान किया। एआरटीओ प्रशासन डा. आरएन चौधरी ने कहा कि यातायात नियमों का पालन करें तथा स्कूल बस या सड़क पर बस से उतरते समय बस रुकने के बाद ही उतरें। सड़क पर पैदल चलते समय साइडवाक एवं फुटपाथ का प्रयोग करें। इस मौके पर एआरटीओ प्रवर्तन संतोष कुमार सिंह, एआरएम ललित कुमार श्रीवास्तव, सेवा प्रबंधक वीके सिंह, आरआइ पवन सोनकर आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.