संक्रमित मरीजों में हो रहा कोरोना फुट

-जागरूकता -बारिश में त्वचा संबंधी बीमारियों के लिए रहें सजग -भीगे रहने से कई बीमारि

JagranFri, 25 Jun 2021 12:38 AM (IST)
संक्रमित मरीजों में हो रहा ' कोरोना फुट'

-जागरूकता :::

-बारिश में त्वचा संबंधी बीमारियों के लिए रहें सजग

-भीगे रहने से कई बीमारियां देती हैं दस्तक : डा. पूनम

जागगरण संवाददाता, आजमगढ़ : बारिश का मौसम आते ही लोगों को गर्मी से तो राहत मिल जाती है, लेकिन इस मौसम में त्वचा संबंधी कई बीमारियां भी दस्तक देती हैं। कोरोना काल में इनसे बचने के लिए सभी को सेहत पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

मंडलीय जिला चिकित्सालय की त्वचा रोग विशेषज्ञ डा. पूनम कुमारी ने बताया बारिश के मौसम में त्वचा संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। खासकर कोरोना संक्रमण के चलते इसका त्वचा पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है, जिससे बारिश के समय त्वचा पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

उन्होंने बताया कि बारिश में त्वचा का भी विशेष ख्याल रखना होगा। कोरोना वायरस के कारण त्वचा संबंधी बीमारियों का प्रभाव पड़ रहा है। नमी और उमस भरी मौसम में रोम छिद्रों को बंद कर देता है। जो त्वचा संबंधी कई बीमारियों को जन्म देता है। दाद गीले कपड़ों और पसीने के कारण होती है। कोरोना के संक्रमण के कारण मरीजों में कोरोना फुट (पैर) की समस्या भी हो रही है। इसमें पैरों में चकत्ते पड़ना, दर्द होना और एलर्जी जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

--------------

समस्या को बिल्कुल भी नजर अंदाज न करें

देर तक भीगे रहने से त्वचा पर लाल रंग के धब्बे पड़ने के साथ ही खुजली, फंगल इंफेक्शन, पैर की उंगलियों में इंफेक्शन, मुंहासे और एक्जिमा, खुजली, सूजन, आदि त्वचा संबंधी अनेक समस्या उत्पन होती हैं। इंफेक्शन या खुजली से त्वचा में पानी जैसा चिपचिपापन आने व त्वचा पर लाल रंग के धब्बे ज्यादा होने या खुजली होने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर चिकित्सक से सलाह लें। इस तरह की समस्या को बिल्कुल भी नजर अंदाज न करें।

------------

त्वचा से संबंधित करें देखभाल

बारिश में गर्मी और उमस से बचने के लिए सूती व काटन के ढीले कपड़े पहनें। कपड़े की सफाई पर विशेष ध्यान देना होगा, डिटोल के कुछ बूंद पानी में डाल कर साफ करें। हाथ, पैर की सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए। गीले कपड़े को तुरंत बदल दें। बरसात में कपड़ों में धूप कम लगती है। इसलिए जरूरत के कपड़ों में प्रेस करें जिससे कपड़े की नमी खत्म हो जाए।

-------------

कपड़े के मास्क को रोजाना जरूर धोकर व सुखा कर प्रयोग करें

खुले हुए जूते पहनें, जूतों में पानी भरने के कारण फंगस संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। कोरोना वायरस के चलते मास्क पहनना अनिवार्य है। ऐसे में कपड़े से बने मास्क का इस्तेमाल करने से इससे त्वचा को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। कपड़े के मास्क को रोजाना जरूर धोया और सुखा कर प्रयोग करें।

--------------

त्वचा को संक्रमण से बचाएं:::::

चेहरे को दिन में तीन से चार बार साफ पानी से जरूर धोएं। कपड़े और दूसरी चीजें किसी से साझा न करें। क्योंकि त्वचा की समस्याएं संक्रामक होती हैं। हाथ और पैरों को साफ और सूखा रखें।

--------------

भोजन में आसान व पोषकयुक्त चीजों का करें सेवन:::

भोजन में आसान और पोषकयुक्त चीजों का सेवन करें। साबूत अनाजों, फलों व सब्जियों को शामिल करें। पेय पदार्थों जैसे चाय, काफी और तले-भुने खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें। इनसे त्वचा बेजान और रूखी होती है। इस मौसम में ज्यादा प्यास नहीं लगती, लेकिन शरीर में जल का स्तर बनाए रखने के लिए रोजाना आठ से 10 गिलास पानी जरूर पीएं। बरसात में पानी दूषित हो जाता है, गुनगुना पानी ही पीएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.