यमुना नदी में पीपे के पुल पर बैठे युवक का पैर फिसला, गई जान

जागरण संवाददाता औरैया यमुना नदी में मछली पकड़ने गया युवक पीपे के पुल पर बैठा हुआ था।

JagranWed, 04 Aug 2021 11:37 PM (IST)
यमुना नदी में पीपे के पुल पर बैठे युवक का पैर फिसला, गई जान

जागरण संवाददाता, औरैया: यमुना नदी में मछली पकड़ने गया युवक पीपे के पुल पर बैठा हुआ था। अचानक उसका पैर फिसल गया और वह नदी में गिर गया। पानी ज्यादा होने से उसकी डूबने से मौत हो गई। जानकारी होने पर ग्रामीणों ने गोताखोरों की मदद ली। गहरे पानी से युवक को बाहर निकाल आनन-फानन जिला अस्पताल ले जा गया। चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। स्वजन का रो-रोकर हाल बेहाल है।

शहर के रजा नगर निवासी 22 वर्षीय टीपू पुत्र गुलाम हसन बुधवार देर शाम अपने भाई कमल हसन के साथ यमुना नदी में मछली पकड़ने गया था। वह नदी पर बने पीपे के पुल पर बैठकर मछली पकड़ रहा था। अचानक अनियंत्रित होने पर उसका पैर फिसल गया और वह यमुना नदी में जा गिरा। तेज बहाव के कारण वह डूब गया। घटना की जानकारी होने पर चौकी इंचार्ज सुधीर भरद्वाज मौके पर पहुंचे। गोताखोरों को बुलाकर कड़ी मशक्कत के बाद युवक को यमुना नदी के बाहर निकाला। आनन-फानन जिला अस्पताल में उसे भर्ती कराया। यहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

----------------------

लापता किसान का शव मिलने से सनसनी

संवाद सूत्र, सहायल: सहायल क्षेत्र के गांव बगियापुर में तीन दिन से लापता एक दिव्यांग किसान का शव कुएं में मिलने से सनसनी फैल गई। उतराते शव को देख गांव के कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी। कुएं से शव बाहर निकलवा पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। स्वजन द्वारा किसी प्रकार का कोई आरोप नहीं लगाया गया है।

बगियापुर निवासी 47 वर्षीय परशुराम पुत्र अशरफी लाल रविवार सुबह खेतों पर कार्य के लिए गया हुआ था। देर शाम तक परशुराम घर नहीं लौटा तो स्वजन उसे ढूंढने में लग गए। लेकिन, कुछ भी पता नहीं लग सका। नित्यक्रिया के लिए खेतों में जा रहे गांव के कुछ लोगों ने कुएं में किसी का शव मिलने का शोर सुना। इस पर वह कुएं के पास पहुंचे। जहां उतराते शव की शिनाख्त परशुराम के रूप में की। ग्रामीणों के अनुसार कुएं के पास चप्पलें पड़ी थी। सहायल थानाध्यक्ष राजकुमार ने बताया कि मृतक किसानी के साथ ही मेडिकल स्टोर में दवाओं की सप्लाई भी करता था। जैसा कि स्वजन का कहना है कि वह तीन दिन से लापता था। नाते-रिश्तेदारों व आस पड़ोस के गांवों में उसे ढूंढा जा रहा था। स्वजन की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गई है। न ही कोई आरोप उन्होंने लगाया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.