कई जगह पकड़ी धांधली,लेकिन नहीं बदला ढर्रा

जागरण संवाददाता औरैया यात्रा किराया में पारदर्शिता बनी रहे और परिचालक की बेईमानी पक

JagranMon, 20 Sep 2021 11:30 PM (IST)
कई जगह पकड़ी धांधली,लेकिन नहीं बदला ढर्रा

जागरण संवाददाता, औरैया: यात्रा किराया में पारदर्शिता बनी रहे और परिचालक की बेईमानी पकड़ी जाए, इसके लिए इलेक्ट्रानिक टिकट प्रणाली को अपनाया गया। ईटीएम के तहत रोडवेज बस यात्रियों को टिकट मुहैया कराए जाने पर महकमे ने जोर दिया। लेकिन, यह कवायद ज्यादा दिन नहीं टिक सकी। अधिकारी भी यहां लापरवाह हो गए। यही वजह है कि औरैया डिपो से 69बस का संचालन अलग-अलग रूट पर होता है, इसमें 24 बस को छोड़ सभी में यात्रियों को मैनुअल टिकट थमाई जा रही। जबकि पूर्व में यात्रा टिकटों में हुई धांधली के मामले कई जगह पकड़े जा चुके हैं। बावजूद ढर्रा जस का तस है।

रोडवेज बस में यात्रा टिकट को लेकर पारदर्शिता बरतने के लिए इलेक्ट्रानिक टिकट मशीन (ईटीएम) को इस्तेमाल में लिया गया। इस व्यवस्था को प्रभावी बनाए जाने के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम मुख्यालय ने जोर दिया। लेकिन, यह सारी कोशिशें समय के साथ ठंडे बस्ते में जा पहुंची। यही वजह है कि एक बार फिर पुराना ढर्रा अपनाने की कवायद शुरू कर दी गई है। औरैया डिपो से संचालित होने वाली 69 रोडवेज बस में 65 फीसद टिकट मैनुअल बन रहे। 35 फीसद यात्रा टिकट ईटीएम से बनाई जा रही है। दिल्ली, लखनऊ, उरई आदि रूट पर दौड़ रही

बस में मैनुअल टिकट सबसे ज्यादा बनाए जा रहे।

-----------

कम से कम 84 मशीन होनी चाहिए

सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक आरएस चौधरी का कहना है कि डिपो से संचालित होने वाली बसों के लिए करीब 84 मशीन की जरूरत है। जिस कंपनी से अनुबंध था, उससे मुख्यालय द्वारा कार्य नहीं

लिया जा रहा है। जिस कारण खराब हो चुकी मशीनें ठीक नहीं हो पा रही। 24 ईटीएम ही काम कर रही हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.