मतदाता पहचान पत्र न दिखाने पर पेश करना होगा कोई और आइकार्ड

मतदाता पहचान पत्र न दिखाने पर पेश करना होगा कोई और आइकार्ड

-आधार कार्ड ड्राइविग लाइसेंस पैन कार्ड पासपोर्ट आदि भी सकते हैं दिखा -विधान परिषद की 1

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 11:39 PM (IST) Author: Jagran

-आधार कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट आदि भी सकते हैं दिखा

-विधान परिषद की 11 सीटों के लिए चुनाव आज राज्य ब्यूरो, लखनऊ : विधान परिषद के पांच खंड स्नातक और छह शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों के लिए पहली दिसंबर को होने वाले चुनाव में ऐसे मतदाताओं को, जिन्हें फोटो पहचान पत्र जारी किए गए हैं, अपनी पहचान सिद्ध करने के लिए वोट देने से पूर्व अपना मतदाता फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत करना होगा। यदि वे अपना मतदाता फोटो पहचान पत्र नहीं प्रस्तुत कर पाते हैं तो उन्हें कोई और पहचान पत्र दिखाना होगा।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि यदि मतदाता अपना निर्वाचन फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत नहीं कर पाते हैं, तो वे आधार कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस, पैन कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, राज्य/केंद्र सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, स्थानीय निकाय या अन्य निजी औद्योगिक घरानों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए सेवा पहचान-पत्र, सांसदों/विधायकों/विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए अधिकारिक पहचान पत्र, शैक्षिक संस्थाओं, जिनमें संबंधित शिक्षक/स्नातक निर्वाचन क्षेत्र का निर्वाचक नियोजित हों, की ओर से जारी सेवा पहचान-पत्र, विश्वविद्यालय द्वारा जारी उपाधि/डिप्लोमा का प्रमाण पत्र और सक्षम प्राधिकारी की ओर से जारी दिव्यांगता संबंधी प्रमाण-पत्र, मूलरूप में अनुमन्य होगा।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि विधान परिषद की 11 सीटों के चुनाव कानपुर नगर, कानपुर देहात और उन्नाव को छोड़कर प्रदेश के सभी जिलों में होने वाले हैं। राज्य के सभी कर्मचारी जो स्नातक हैं और जो स्नातक व शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों के बोनाफाइड मतदाता हैं, को मताधिकार के प्रयोग के लिए एक दिसंबर को मतदान दिवस पर विशेष आकस्मिक अवकाश अनुमन्य किए जाने की स्वीकृति दी गई है। यह आदेश राज्य के समस्त विभागों/ विभागाध्यक्षों/स्थानीय निकायों तथा अर्धशासकीय विभागों पर लागू होंगे। बूथों तक पहुंच सकेंगे सिर्फ मतदाता

संवाद सहयोगी, बिधूना : शिक्षक एवं स्नातक एमएलसी चुनाव में मंगलवार को होने वाले मतदान के लिए प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। सोमवार को सभी पोलिग पार्टियां निर्वाचन स्थल पर पहुंच गईं।

स्नातक एमएलसी चुनाव के लिए तहसील क्षेत्र के सभी चारों ब्लाको में दस बूथ व शिक्षक एमएलसी के लिए एक-एक बूथ बनाया गया है। स्नातक एमएलसी के लिए कुल 7718 मतदाता हैं। जबकि शिक्षक एमएलसी के लिये 633 मतदाता मतदान करेंगे। सुबह आठ से शाम पांच बजे तक मतदान कराया जाएगा। उपजिलाधिकारी राशिद अली खान ने कहा एक दिसंबर को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन के अनुसार प्रत्याशियों के मतदेय स्थल के बाहर निश्चित दूरी पर बस्ते लगेंगे। मतदाताओं के अलावा किसी भी व्यक्ति को बूथों पर जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। मतदाता किसी भी प्रकार की आपत्ति जनक सामग्री साथ नहीं ले जा सकेगा। नगर पंचायत प्रशासन द्वारा मतदेय स्थल के सभी चारों कक्षों को सैनिटाइज कराया गया। उच्च अधिकारियों ने मतदान स्थलों का निरीक्षण किया। अपने-अपने प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान कराने को अंतिम दिन भी समर्थक मतदाताओं से संपर्क करने में जुटे रहे। कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारीं सौंपी। तहसील में तीन स्नातक व शिक्षक एमएलसी के लिये एक बूथ बनाया गया है। सहार ब्लाक में तीन, ऐरवा कटरा में दो, अछल्दा में दो बूथ बनाए गए हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.