सौ शैया जिला अस्पताल में चार करोड़ का घोटाला

जागरण संवाददाता औरैया कोरोना संक्रमित हुए लोगों को बचाने के लिए सरकार ने जहां पूरी ता

JagranWed, 24 Nov 2021 11:18 PM (IST)
सौ शैया जिला अस्पताल में चार करोड़ का घोटाला

जागरण संवाददाता, औरैया : कोरोना संक्रमित हुए लोगों को बचाने के लिए सरकार ने जहां पूरी ताकत झोंकी, वहीं कोविड अस्पताल बने सौ शैया जिला अस्पताल में सरकारी धन की लूट होती रही। मार्च 2021 में डीएम के निरीक्षण में प्रकरण संज्ञान में आया। इसके बाद फाइलें खुलीं तो चार करोड़ रुपये का घोटाला सामने आया। तत्कालीन मुख्य चिकित्सा अधीक्षक पर मुकदमे के लिए डीएम ने शासन को दोबारा पत्र लिखा है।

चिचौली स्थित सौ शैया जिला अस्पताल में बने कोविड एल-2 अस्पताल की जांच में वर्ष 2019 से इस वर्ष तक चार करोड़ रुपये का घोटाला पकड़ में आया है। इसमें मरीजों की चादर की धुलाई से लेकर मास्क, सैनिटाइजर और अन्य जरूरी सामग्री की खरीद शामिल है। पूरा प्रकरण तत्कालीन मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) डा.राजीव रस्तोगी के कार्यकाल में हुआ।

डीएम सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि एडीएम वित्त एवं राजस्व रेखा एस चौहान की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय टीम जांच कर रही है। इसमें मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अर्चना श्रीवास्तव, एसडीएम सदर के अलावा चार अन्य प्रशासनिक अधिकारी हैं। ब्लाक प्रोजेक्ट मैनेजर आदेश कुमार के साथ मिलकर शासन से मिले बजट में किए गए घालमेल को पकड़ा गया है। जांच कर रही टीम को वर्ष 2019-20 में करीब एक करोड़ 19 लाख रुपये की हेराफेरी मिली है। आदेश कुमार पर पूर्व जांच के आधार पर सदर कोतवाली में एफआइआर दर्ज हो चुकी है। उन्नाव स्थित उसकी तीन फार्मों जयकाली इंटरप्राइजेज, शिवांगी व नमन इंटरप्राइजेज को फायदा पहुंचाया गया है। यह सभी आदेश कुमार के अलग-अलग रिश्तेदारों की है। डीएम ने बताया कि तत्कालीन सीएसएस पर एफआइआर दर्ज कराने के लिए पूर्व में शासन को पत्र लिखा गया था। सामने आ रहे एक के बाद एक घोटाले को देखते हुए एक और पत्र लिखा गया है। पूरा प्रकरण शासन के संज्ञान में है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.