पुलिस की नाक के नीचे आम के हरे-भरे पेड़ों पर चली आरी

अमरोहा शहर कोतवाली पुलिस की नाक के नीचे आम के हरे-भरे बागों का कटान किया जा रहा है।

JagranTue, 27 Jul 2021 12:25 AM (IST)
पुलिस की नाक के नीचे आम के हरे-भरे पेड़ों पर चली आरी

अमरोहा: शहर कोतवाली पुलिस की नाक के नीचे आम के हरे-भरे बागों का कटान किया जा रहा है। रात के अंधेरे में पेड़ों पर आरी व कुल्हाड़ी चलाई जा रही है और तड़के में लकड़ी की ढुलाई हो रही है। बीती रात नगर क्षेत्र में आम के बाग को काटकर तबाह कर दिया गया। सुबह पता चलने पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और मुआयना कर आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी। इसके आधार पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली है।

नगर से सटे मुहल्ला हाशमी नगर में रविवार की रात आम के बाग को काट दिया गया। रातोंरात ही बाग की लकड़ियों को वाहनों में लादकर भिजवा दिया गया। सोमवार की सुबह जब लोगों की आंख खुली तो पूरा मैदान साफ नजर आया। हर कोई हैरत में हो गया। रात में काटे गए हरे-भरे बाग और वाहनों की आवाजाही का सिलसिला मुहल्लों में लगे कई सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया। बाग कटान की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं। जानकारी लगने के बाद उपजिलाधिकारी विवेक कुमार यादव ने क्षेत्रीय लेखपाल व डीएफओ देवमणि मिश्रा ने विभागीय टीम को मौके पर भेजा। टीम ने पूरी जांच पड़ताल की। मौके पर नौ आम के पेड़ कटे पाए गए।

इस दौरान पता चला कि अहमद शेख पुत्र अमीनुद्दीन शेख निवासी मुहल्ला बगला थाना अमरोहा नगर, असद पुत्र मतलूब निवासी गांव ढकिया चमन थाना डिडौली व बबलू पुत्र शब्बीर द्वारा यह पेड़ कटवाए गए हैं। इसके बाद वन दारोगा राजीव वर्मा ने तीनों के खिलाफ नामजद व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ शहर कोतवाली में तहरीर दी। कोतवाली प्रभारी आरपी शर्मा ने बताया कि तहरीर के आधार पर पुलिस ने तीनों आरोपितों के खिलाफ उत्तर प्रदेश वन संरक्षण अधिनियम व भारतीय वन अधिनियम के तहत एफआइआर दर्ज कर ली है। मौके पर टीम भेजी गई थी। आम के पेड़ काटे गए हैं। आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में वन दारोगा की तरफ से एफआइआर दर्ज करा दी गई है।

देवमणि मिश्रा, डीएफओ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.