top menutop menutop menu

मरीज देखने बुलाकर झोलाछाप किया अगवा

अमरोहा : उपचार कराने के बहाने कार सवार बदमाश झोलाछाप का अपहरण कर ले गए। उनकी बेटी ने रोकने का प्रयास किया तो उसे धक्का देकर गिरा दिया। एसपी डॉ. विपिन ताडा भी मौके पर पहुंचे तथा जानकारी ली। पुलिस अपहृत व बदमाशों को तलाश कर रही है। अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह घटना देहात थाना क्षेत्र के गांव कैलसा बार्डर की है। यहां पर मूल रूप से पश्चिम बंगाल के कोलकाता निवासी डॉ. पंकज विश्वास का परिवार लगभग दो दशक से रहता है। डॉ. बंगाली के नाम से मशहूर डॉ. पंकज विश्वास घर पर ही क्लीनिक चलकर बंगाली पद्धति से उपचार करते हैं। परिवार में पत्नी निसिमा विश्वास, बेटा नितिन विश्वास व बेटी निकिता विश्वास हैं।

मंगलवार की रात उनके घर के बाहर आकर कार रुकी। उस समय वह क्लीनिक पर पास के गांव पृथ्वीपुर निवासी सुरजीत सिंह का उपचार कर रहे थे। उसमे उतरे एक व्यक्ति ने दरवाजा खटखटाया तथा डॉ. पंकज को बुलाया। वह बेटी निकिता को साथ लेकर घर से बाहर आए तो उस व्यक्ति ने कहा कि कार में मरीज है उसे देख लीजिए। जैसे ही वह कार के पास पहुंचे तो बदमाशों ने निकिता को धक्का देकर गिरा दिया तथा डॉ. पंकज को जबरन कार में डाल लिया तथा स्टेशन की तरफ फरार हो गए। गिरने से निकिता भी घायल हो गई।

हालांकि इस दौरान निकिता ने कार की फोटो मोबाइल में ले ली। छत से घटनाक्रम देख रहीं उनकी पत्नी निसिमा विश्वास ने शोर मचा दिया। इस पर आसपास के लोग एकत्र हो गए। सूचना मिलते ही डायल 112 की टीम तथा बाद में देहात थाना पुलिस पहुंच गई। फौरन ही जिले की नाकाबंदी कर चेकिग शुरू कर दी गई परंतु सफलता नहीं मिली।

मामले का गंभीरता से लेकर एसपी डॉ. विपिन ताडा भी मौके पर पहुंचे तथा पीड़ित परिवार से जानकारी ली। पुलिस अभी तक मिली जानकारी के आधार पर डॉ. पंकज को तलाश कर रही है। इस मामले में पत्नी की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एसपी ने बताया स्वजनों से पूछताछ के बाद तलाश जारी है। जल्दी ही उन्हें बरामद कर लिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.