तीन नहीं पांच लोग थे डबल मर्डर में शामिल

तीन नहीं पांच लोग थे डबल मर्डर में शामिल

अमरोहा : गजरौला में हुए डबल मर्डर के मामले में मृतकों के स्वजन पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। यहां उ

JagranSat, 27 Feb 2021 11:32 PM (IST)

अमरोहा : गजरौला में हुए डबल मर्डर के मामले में मृतकों के स्वजन पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने पुलिस अधीक्षक सुनीति को ज्ञापन सौंपा। उनका कहना था कि हत्या की वारदात को अंजाम देने में तीन नहीं बल्कि पांच लोग शामिल थे। निष्पक्ष जांच कराकर सभी को गिरफ्तार कराया जाए।

शनिवार को गजरौला थाना क्षेत्र के गांव मोहम्मदाबाद व कासमाबाद के ग्रामीण एसपी दफ्तर आए। यह लोग मृतकों के स्वजन थे तथा बीती 23 फरवरी को गांव मोहम्मदाबाद में हुई रामनिवास व सूफियान की हत्या के मामले में एसपी सुनीति से मिले। इन्होंने एसपी को ज्ञापन सौंपा।

कहा कि पुलिस ने हत्या के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। यह अच्छी बात है कि पुलिस ने जल्दी घटना का पर्दाफाश कर दिया। परंतु इस घटना में तीन नहीं पांच लोग शामिल हैं। आरोप लगाया कि आरोपित सुल्तान के साथ दो अन्य लोग भी कार से वहां पहुंचे थे। पांचों लोगों ने मिलकर घटना को अंजाम दिया था। लिहाजा मामले की निष्पक्ष जांच कर अन्य दो लोगों का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

एसपी ने मृतकों के स्वजन को निष्पक्ष कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन देने वालों में विपिन कुमार, भोजवीर सिंह, मुरसलीन, रईस ठेकेदार, लीलपत, बृजकिशोर, शाहबुद्दीन, सद्दाम हुसैन, यादराम, किशनलाल, बुनियाद अली, मोहब्बत अली, फूल सिंह, मूलचंद, ओमकार, हरगोविद, बालकरन, कलुआ, जान मोहम्मद, हाजी वाजिद व वली मोहम्मद शामिल थे। मुरादाबाद की लैब में ब्लड का भी होगा मिलान

गजरौला : दोहरा हत्याकांड में प्रयुक्त किए गए तबल (धारदार हथियार), हत्यारोपित व मृतकों के कपड़ों को फोरेंसिक जांच को भेजने की तैयारी शुरू कर दी है। दोनों मृतक व तीनों हत्यारोपितों के कपड़ों को सील किया जा चुका है।

बता दें 23 फरवरी की रात को गांव मोहम्मदाबाद निवासी सुफियान व गांव कासमाबाद निवासी रामनिवास का कत्ल किया गया था। घटना में एक का तबल से गला रेता गया था और दूसरे का गला दबाया गया था। इस वारदात को अंजाम देने में देसी शराब दुकान के सेल्समैन सूरज, केंटीन चलाने वाले गोविद व शराब दुकान का ठेकेदार सुल्तान शामिल था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया है।

अब मृतकों के खून से सने कपड़े व हत्यारोपितों ने घटना के दौरान पहने कपड़े, घटना में प्रयुक्त तबल व घटनास्थल से जुटाए गए अन्य साक्ष्यों को एकत्र कर जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजने की तैयारी चल रही है। एक-दो दिन में सभी सामान भेज दिया जाएगा। बता दें कि घटनास्थल पर पांच सदस्य फोरेंसिक टीम ने भी पहुंचकर साक्ष्य जुटाए थे।

प्रभारी निरीक्षक आरपी शर्मा ने बताया कि मृतक व हत्यारोपितों के कपड़े, घटना में प्रयुक्त तबल आदि को जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। इसकी तैयारी चल रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.