हेडमास्टर व बीएलओ निलंबित, दो लेखपालों पर कार्रवाई

अमेठी रविवार को मतदाता पुनरीक्षण अभियान के तहत विशेष अभियान का दिन था। जिलाधिकारी अरुण

JagranPublish:Sun, 07 Nov 2021 10:11 PM (IST) Updated:Sun, 07 Nov 2021 10:11 PM (IST)
हेडमास्टर व बीएलओ निलंबित, दो लेखपालों पर कार्रवाई
हेडमास्टर व बीएलओ निलंबित, दो लेखपालों पर कार्रवाई

अमेठी : रविवार को मतदाता पुनरीक्षण अभियान के तहत विशेष अभियान का दिन था। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने गौरीगंज तहसील क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न बूथों पर पहुंचकर अभियान की हकीकत देखी तो तैयारियों की पोल खुल गई।

नाराज डीएम ने हेड मास्टर व बीएलओ को निलंबित करने तथा सुपरवाइजर बनाए गए दो लेखपालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही गौरीगंज एसडीएम से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने को कहा है।

निरीक्षण के दौरान डीएम सबसे पहले प्राथमिक विद्यालय तुलसीपुर के बूथ संख्या 309 पर पहुंचे। जहां पर पदाभिहित अधिकारी, प्रधानाचार्य प्रमोद कुमार सोनकर बिना बताए गायब पाए गए। जिस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए डीएम ने उन्हें तत्काल निलंबित करने के निर्देश बीएसए को दिए। उन्होंने बूथ पर मौजूद बीएलओ व सुपरवाइजर से अब तक भरे गए फार्म तथा डोर टू डोर सर्वे की स्थिति की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए। इसके पश्चात डीएम ने प्राथमिक विद्यालय मऊ के बूथ संख्या 223, 224 व 225 का निरीक्षण किया। इस दौरान बूथ पर बीएलओ अशोक कुमारी के बजाय उनके पति काम करते हुए पाए गए। जिस पर डीएम ने तत्काल बीएलओ को निलंबित करने के निर्देश दिए। डीएम ने प्राथमिक विद्यालय मझवारा के बूथ संख्या 219 व 220 का निरीक्षण किया। जहां पर सुपरवाइजर, लेखपाल द्वारा सवालों के सही जवाब न देने पर सुपरवाइजर जगवंत के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। प्राथमिक विद्यालय भटगवां के बूथ संख्या 215, 216, 217 के निरीक्षण के दौरान बीएलओ व सुपरवाइजर वोटर हेल्पलाइन से जुड़ी कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं करा पाए। जिस पर डीएम ने लेखपाल को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने बताया कि लगातार सभी उप जिलाधिकारियों को बीएलओ तथा सुपरवाइजर की ट्रेनिग कराए जाने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन, निरीक्षण के दौरान तैयारियों का अभाव दिखा। जिस पर एसडीएम गौरीगंज से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि मतदाता पुनरीक्षण का यह कार्य बेहद खास है। इसी मतदाता सूची के आधार पर विधानसभा चुनाव होना है। इसमें लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान अपर जिलाधिकारी सुशील प्रताप सिंह, तहसीलदार गौरीगंज पवन कुमार शर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।