ओमिक्रान वैरिएंट को मात देने के लिए गठित हुई चिकित्सकों की टीम

तीन शिफ्ट में निगरानी के लिए लगाए गए दो-दो चिकित्सक व नर्स -साफ-सफाई के लिए छह स्वीपर व एक वार्ड ब्वाय की हुई तैनाती।

JagranWed, 08 Dec 2021 10:29 PM (IST)
ओमिक्रान वैरिएंट को मात देने के लिए गठित हुई चिकित्सकों की टीम

जागरण संवाददाता, अमेठी : कोरोना वायरस के बदले वैरिएंट से लड़ने के लिए चिकित्सकों की टीम तैयार हो गई है। तीन शिफ्ट में छह-छह चिकित्सक, नर्स, स्वीपर व तीन वार्ड ब्वाय को तैनात किया गया है। वहीं विदेश से आने वाले लोगों पर नजर रखते हुए उनका सैंपल जांच के लिए लिया जा रहा है।

देश में ओमिक्रान वैरिएंट से संक्रमित लोगों के मिलने से जिला प्रशासन भी चौकन्ना हो गया है। विदेश से आने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है, जिससे समय रहते हुए बदले वैरिएंट के प्रकोप से जिले को बचाया जा सके। इसके लिए चिकित्सकों की टीम तैनात की गई है। पांच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 25-25 बेड का एल-1 अस्पताल भी बनाया गया है। इतना ही नहीं स्वास्थ्य महकमे ने जरूरत की दवाओं का भी भंडारण कर लिया है।

-विदेश से आए 55 लोगों की जांच आई निगेटिव

जिले में ओमिक्रान वैरिएंट के संक्रमण को रोकने के लिए विदेश से आने वाले व्यक्तियों पर विशेष नजर रखी जा रही है। जिले में अभी तक विदेश में 55 लोग आए हुए हैं। जिनका सैंपल स्वास्थ्य टीम द्वारा लिया गया। विदेश से आने वाले सभी लोगों की जांच निगेटिव पाई गई है।

-एल-1 अस्पताल व बेड की संख्या

जगदीशपुर सीएचसी 25

बाजारशुकुल सीएचसी 25

फुरसतगंज सीएचसी 25

संग्रामपुर सीएचसी 25

शाहगढ़ सीएचसी 25

-एल-2 अस्पताल

ओमिक्रान वैरिएंट को देखते हुए गौरीगंज के असैदापुर स्थित जिला अस्पताल में 100 बेड व रेफरल सेंटर तिलोई में 200 वेड का एल-2 अस्पताल बनाया गया है। अस्पताल में जरूरत के मुताबिक आक्सीजन व दवाओं की उपलब्ध करा दी गई है।

-बदले वैरिएंट में नहीं जाएगी गंध

जिला अस्पताल के चिकित्साधिकारी डा.नीरज वर्मा ने बताया कि ओमिक्रान से संक्रमित मरीजों के शरीर में दर्द और पीड़ा होने की शिकायत है। काफी तेज सिरदर्द और थकान होने का भी लक्षण है। ओमिक्रान वैरिएंट से संक्रमित मरीज में गंध और स्वाद चले जाने, नाक बंद होने की शिकायत नहीं है। डेल्टा वैरिएंट से इसके लक्षण हल्के और अलग होने का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि अभी पूरी तरह से लक्षण का पता नहीं चल सका है।

-बचाव के लिए करे यह उपाय

-शारीरिक दूरी बनाए रखें।

-समारोह में जाने से बचें।

-हाथ को सैनिटाइज करें।

-बाहर निकलने पर मास्क लगाएं।

-दूसरे शहर से आने वालों को आइसोलेट करें।

-गुनगुना पानी या काढ़ा पीएं।

-कार्यवाहक मुख्य चिकित्साधिकारी डा.राम प्रसाद सरोज ने बताया कि ओमिक्रान वैरिएंट को लेकर जिले में एल-1 व एल-2 अस्पतालों में सभी तैयारियां कर ली गई है। विदेश से आने वाले लोगों की जांच भी की जा रही हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.