एसडीएम व तहसीलदार के विरोध में अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन

स्थानांतरण नहीं होने तक करेंगे न्यायिक कार्य बहिष्कार की चेतावनी

JagranPublish:Mon, 14 Dec 2020 11:53 PM (IST) Updated:Mon, 14 Dec 2020 11:53 PM (IST)
एसडीएम व तहसीलदार के विरोध में अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन
एसडीएम व तहसीलदार के विरोध में अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन

अमेठी: उपजिलाधिकारी व तहसीलदार की कार्यशैली से नाराज अधिवक्ता आंदोलित हैं। दोनों अधिकारियों के स्थानांतरण न होने तक अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला लिया है। बार एसोसिएशन सचिव उपेंद्र शुक्ल की अगुवाई में अधिवक्ताओं ने सोमवार को तहसील में जोरदार प्रदर्शन किया। अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में एसडीएम व तहसीलदार कार्यालय के सामने नारेबाजी की। अधिवक्ताओं का कहना है, कि दोनों अधिकारियों का रवैया न तो आमजनता के प्रति ठीक हैं, और न ही अधिवक्ताओं के साथ ही इनका कार्य व्यवहार। इनका व्यवहार तानाशाह की तरह है। अधिवक्ताओं की टीम ने कई बार इन अधिकारियों से वार्ता कर माहौल ठीक बनाने की कोशिश हुई, लेकिन अधिकारियों का रवैया पहले की तरह ही रहा। कार्य व्यवहार में कोई बदलाव नहीं हुआ। इसी से अधिवक्ता नाराज चल रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान एसडीएम योगेंद्र सिंह भी अधिवक्ताओं के बीच आ गए। उन्होंने कहा कि आप लोग बात करें मैं आप लोगों से बात करना चाहता हूं। इस पर सचिव उपेंद्र शुक्ला ने कहा कि जिला स्तरीय अधिकारी आएं हम बात करने को तैयार हैं। सोमवार को हुए प्रदर्शन में जगदंबा शुक्ल, राजेश मिश्रा,संग्राम सिंह,धर्मेंद्र नाथ शुक्ला, त्रियुगी नारायण मिश्रा, शिव प्रसाद तिवारी,राम प्रताप यादव,कैलाश शुक्ला, सत्य प्रकाश मिश्रा, अखिलेश मौर्य, बृजेश पांडेय, दयाशंकर शुक्ला, चंद्रप्रकाश मिश्रा, विनोद पांडेय, सूर्यप्रताप मिश्रा सहित बार एसोसिएशन से जुड़े सभी अधिवक्ता मौजूद रहे।

हम अपने स्टैंड पर कायम हैं। जिले के जिम्मेदार अधिकारी आएं हम बात करने को तैयार हैं। एसडीएम व तहसीलदार का तबादला करें। हम लोग जिला प्रशासन का पूरा सहयोग करेंगे। इसके अलावा कोई बात करने का औचित्य नहीं बचा है।

उपेंद्र शुक्ला सचिव

आज तक मेरी नए पदाधिकारियों से कोई बात नहीं हुई। पुरानी कार्यकारिणी के साथ मेरी बैठक हुई थी। मैं बातचीत के लिए पहले भी कह चुका हूं। आज भी कहा चाहे वह अपने सभागार में बातचीत कर लें या मेरे चैंबर में। बातचीत से ही हर समस्या का समाधान होता है।

योगेंद्र सिंह एसडीएम