डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर बनाया गया कंटेनमेंट जोन

डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर बनाया गया कंटेनमेंट जोन

जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से पैर पसार

JagranFri, 16 Apr 2021 11:39 PM (IST)

अमेठी : जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है। लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए प्रशासन भी प्रभावी कदम उठा रहा है। इसके लिए बनाए गए कंटेनमेंट जोन में वृहद सैनिटाइजर कराने के आदेश दिए गए हैं। पूरे जिले में 155 स्थानों पर कंटेनमेंट जोन बनाया गया है।

सबसे अधिक मुसाफिरखाना क्षेत्र में लगभग 74 कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जब कि गौरीगंज तहसील क्षेत्र में 34, अमेठी 28 व तिलोई में 19 कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। इन स्थानों पर सैनिटाइजर कराने के लिए कर्मचारियों को लगाया गया है। कर्मचारी पीपीई किट पहने कर कंटेनमेंट जोन वाले इलाकों को कोरोना संक्रमण मुक्त बनाने के लिए दवा का छिड़काव करने में लग गए हैं। जरूरत पड़ने पर अग्निशमन विभाग का सहयोग लेने के भी आदेश दिए गए हैं।

जिला पंचायत राज अधिकारी श्रेया मिश्रा ने कहा कि शनिवार व रविवार को विशेष सैनिटाइजर अभियान चलाने के लिए सभी सहायक विकास अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं। इसमें लापरवाही करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि गांवों को संक्रमण मुक्त बनाने के लिए सफाई अभियान आदि चलाने का आदेश दिया गया है। 176 और मिले कोरोना संक्रमित

अमेठी : जिले में शुक्रवार को कोरोना के 176 नए केस सामने आए हैं। इसी के साथ जिले में कुल संक्रमितों की संख्या चार सौ के पार पहुंच गई है। बढ़ते संक्रमण से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। तमाम इंतजाम व व्यवस्था फेल होती दिख रही है।

जिलाधिकारी अरुण कुमार के मुताबिक 16 अप्रैल को 2369 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई जिसमें 2193 सैंपल निगेटिव आए हैं। 176 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई है। इसी के साथ जिले में सक्रिय केसों की संख्या 490 हो गई है। कोरोना के बढ़ते केसों के बीच अस्पतालों में संसाधन कम होने लगे हैं। सीएमओ डॉ. आशुतोष कुमार दुबे ने कहा कि सभी कोरोना संक्रमितों की जान बचाने के लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है। पहले से ही गंभीर रोग से पीड़ित लोगों के लिए संक्रमण सबसे अधिक घातक हो रहा है। सभी लोग सावधानी बरतें और बहुत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.