जल्द ही चीन व जापान की पंक्ति में खड़ा होगा भारत: जितिन प्रसाद

अंबेडकरनगर प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद ने तकनीकी शिक्षा हासिल करने में आड़े आ र

JagranSun, 05 Dec 2021 12:22 AM (IST)
जल्द ही चीन व जापान की पंक्ति में खड़ा होगा भारत: जितिन प्रसाद

अंबेडकरनगर: प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद ने तकनीकी शिक्षा हासिल करने में आड़े आ रही समस्याओं को दूर करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का आश्वासन दिया है। देश व समाज के विकास के लिए तकनीकी शिक्षा को अपरिहार्य बताते हुए उन्होंने कहा कि इसे बढ़ावा देने की दिशा में सरकार लगातार प्रयास कर रही है। हर जिले में एक तकनीकी कालेज की स्थापना की जा रही है ताकि प्रतिभावान युवाओं को तराश कर उन्हें बड़ी संस्थाओं से जोड़ उनकी प्रतिभा का उपयोग देश सेवा में किया जा सके। वह यहां शनिवार को राजकीय इंजीनियरिग कालेज (आरईसी) में फैकल्टी आवास का शिलान्यास और इनक्यूबेशन सेंटर का लोकार्पण करने आए थे।

दोपहर करीब एक बजे प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद इंजीनियरिग कालेज पहुंचे। सबसे पहले यहां छात्र-छात्राओं द्वारा लगाए गए स्टालों का निरीक्षण किया। आइटी तृतीय वर्ष के छात्र नूर मोहम्मद, हिमांशू, आकाश और अंकित ने बताया कि उन सभी ने मिलकर बेहद कम कीमत में एक ऐसा रोबोट तैयार किया है जो आम आदमी की तरह हर कार्य करने में सक्षम है। मंत्री ने बच्चों की प्रतिभा की तारीफ की। इसके बाद उन्होंने इन्क्यूबेशन सेंटर का उदघाटन करने के साथ फैकल्टी आवास के लिए नींव रखी। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले 70 सालों में तकनीकी शिक्षा के लिए जरूरी कदम नहीं उठाए गए, इससे देश तकनीक क्षेत्र में औरों की अपेक्षा पिछड़ा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने तकनीकी क्षेत्र के विकास में नया आयाम स्थापित किया है। अब वह दिन दूर नहीं, जब भारत, चीन और जापान की पंक्ति में खड़ा होगा। इंजीनियरिग कालेज के निदेशक प्रो. संदीप तिवारी ने मंत्री जितिन प्रसाद एवं प्रविधिक शिक्षा के सचिव आलोक कुमार, आइआइटी कानपुर के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट डा. तरुण चतुर्वेदी के साथ एवरो इंडिया के चेयरमैन सुशील कुमार अग्रवाल को मोमेंटो देकर उनका स्वागत किया। इस दौरान सीडीओ घनश्याम मीणा, आरईसी कन्नौज के निदेशक मनोज शुक्ला, आरईसी सोनभद्र के जीएस तोमर, ज्योति सेरो ग्रुप के चेयरमैन मनोज कुमार, ऊर्जाग्राम के सीईओ उत्पर्ण दुबे, रोजा टेक के रोहित आनंद, डा. सुधाकर त्रिपाठी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

---------

छात्र-छात्राओं से रूबरू हुए मंत्री: तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मंत्री ने छात्र-छात्राओं से सुझाव लेने के साथ उनकी परेशानियों को भी जाना। छात्रा वंदना ने कहा कि उनमें से ज्यादातर किसी न किसी विषय पर शोध करना चाहते हैं, लेकिन फंड आड़े आता है। इस पर मंत्री ने कहा कि इसी सोच को साकार करने के लिए इनक्यूबेशन सेंटर की स्थापना कराई गई है। छात्र अर्पित ने कहा कि पेपर लीक होने या भर्ती कोर्ट में चले जाने से युवाओं का भविष्य खतरे में पड़ जाता है। इस पर मंत्री ने कहा कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सरकार ने ठोस कदम उठाया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.