चार घंटे की मतगणना में निकला हार-जीत का फैसला

चार घंटे की मतगणना में निकला हार-जीत का फैसला

जीत का प्रमाण-पत्र पाकर उम्मीदवार और समर्थकों ने जताई खुशी।

JagranTue, 11 May 2021 11:30 PM (IST)

अंबेडकरनगर : करीब दो माह से चलती रही त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की हलचल मंगलवार को शांत हो गई। जिला पंचायत सदस्य और बीडीसी के समस्त पदों के अलावा प्रधान के 895 पदों व ग्राम पंचायत सदस्य के पदों पर गत दो मई को ही परिणाम घोषित होने के बाद चुनाव का बड़ा हिस्सा संपन्न हो गया था। वहीं, मतदान से पहले प्रधान पदों के सात उम्मीदवारों की मौत होने के बाद अधिसूचना जारी कर चुनाव आयोग ने गत नौ मई को यहां मतदान कराया। मंगलवार को यहां ब्लाक मुख्यालयों पर मतगणना कराने के साथ परिणाम घोषित कर दिया गया।

विकास खंड अकबरपुर के ताराखुर्द गांव से नरेंद्र वर्मा प्रधान निर्वाचित हुए। मजीषा से शांति ने 399 वोटों से जीत हासिल की। कटेहरी विकास खंड के गांव नंदूपुर से शिवशंकर तथा अहिरौली गांव से संदीप कुमार कन्नौजिया प्रधान निर्वाचित हुए। विकास खंड बसखारी के ग्राम पंचायत ढेकवा बहाउद्दीनपुर के ग्राम प्रधान के विजेता श्रवण कुमार को एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक ने जीत का प्रमाण-पत्र सौंपा। रामनगर विकास खंड के आमा दरवेशपुर ग्राम पंचायत में अभिमन्यु मौर्य दूसरी बार में बाजी मारते हुए प्रधान निर्वाचित हुए। वहीं, सहिजना हमजापुर गांव में पार्वती देवी ग्राम प्रधान निर्वाचित हुईं। परिणाम की घोषणा के बाद विजेता उम्मीदवारों का स्वागत समर्थकों ने फूल-माला से कर खुशी जताई।

निर्वाचन अधिकारी, बीडीओ और पांच प्रधानों के विरुद्ध वाद दायर :

विकास खंड भीटी में संपन्न पंचायत चुनाव की मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए पांच गांवों से उपजिला मजिस्ट्रेट भीटी के न्यायालय में मंगलवार को अलग-अलग पांच वाद दायर किए गए हैं। उप जिला मजिस्ट्रेट ने सभी प्रार्थना पत्रों को स्वीकार करते हुए सभी प्रतिवादियों को 29 मई को न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया है।

भीटी विकासखंड के 92 गांवों की मतगणना कन्या इंटर कालेज में हुई थी। नतीजे आने के बाद कई प्रत्याशियों ने तत्समय मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए अधिकारियों से शिकायत की थी। आरोप है कि तमाम मतपेटिकाएं टूटी हुई थीं। मतदान समाप्ति के बाद एजेंटों द्वारा लगाई गई सील भी नदारद थी। चहेतों को जिताने के लिए मतपत्र बदले गए थे। इससे कई प्रत्याशियों की हार हुई। विरोध करने पर जिम्मेदारों ने अपनी कमी छिपाने के लिए पुलिस की मदद से उन्हें मतगणना स्थल से बाहर करा दिया। इसकी शिकायत जिलाधिकारी व राज्य निर्वाचन आयोग से आनलाइन की गई थी। वहीं, आरओ विनोद कुमार सिंह, बीडीओ अनुपम सिंह ने पूरी मतगणना सीसी कैमरे की निगरानी में पारदर्शिता से कराने का दावा करते हुए आरोपों को गलत बताया है।

इससे क्षुब्ध पांच ग्राम पंचायतों अढ़नपुर, बेला, चंदौका, परियाएं, जैतूपुर के हारे प्रत्याशियों ने जीते पांच प्रधानों, निर्वाचन अधिकारी भीटी, खंड विकास अधिकारी भीटी को प्रतिवादी बनाते हुए दोबारा मतगणना कराने संबंधी वाद दायर किया है। इसके अलावा खजुरी और सेहरा जलालपुर से भी मुकदमा दायर किए जाने की तैयारी चल रही है। एसडीएम भूमिका यादव ने वाद दायर किए जाने की पुष्टि की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.