top menutop menutop menu

प्रयागराज में जमातियों पर टिप्पणी करने वाले की हत्या, CM के निर्देश पर हत्यारा एनएसए में नामजद

प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर मचे भयंकर कोहराम के बीच रविवार को संगमनगरी में लोटन निषाद की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसके बाद प्रयागराज में सनसनी फैल गई। लोटन निषाद ने जमातियों पर टिप्पणी की थी। इससे मोहम्मद सोना से उनकी झड़प हो गई और सोना ने तमंचा से लोटन को गोली मार दी।

पुलिस ने मोहम्मद सोना को गिरफ्तार करने के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर रासुका तामील कर दिया है। इसके साथ ही सरकार ने लोटन निषाद के परिवार के लोगों को तत्काल पांच लाख रुपया की आर्थिक सहायता प्रदान की। सुबह तकरीबन साढ़े नौ बजे करेली के बख्शी मोढ़ा गांव में 30 वर्षीय लोटन निषाद की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोप है कि घर के बाहर अखबार पढ़ते समय युवक ने कह दिया की जमात वाले कोरोना वायरस फैला रहे हैं। इस पर उसकी मोहम्मद सोना से झड़प हो गई। मारपीट के कुछ देर बाद मोहम्मद सोना ने तमंचा लाकर लोटन निषाद के सिर में गोली मार दी। भाग रहे कातिल को लोगों ने दौड़ाकर दबोचा और पीटकर पुलिस को सौंप दिया। 

मौके पर आईजी रेंज केपी सिंह, एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज, एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव पुलिस बल के साथ पहुंच गए। एसपी सिटी ने बताया कि मौके पर बातचीत में पता चला है कि अखबार पढ़ते समय कोरोना वायरस को लेकर कहासुनी हुई थी। लोग बता रहे हैं कि लोटन ने कह दिया था कि तबलीगी जमात वाले कोरोना वायरस फैला रहे हैं । इसी बात पर तैश में आकर मोहम्मद सोना ने उसकी हत्या कर दी। आरोपित को उसके पिता कादिर समेत पकड़ लिया गया है। पीडि़त परिवार के घर से भी एक लाइसेंसी बंदूक को कब्जे में लिया गया है। जांच की जा रही है कि क्या उससे भी फायरिंग की गई थी। दो वर्ग में तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया है।

करेली थाना क्षेत्र में बक्शी मोड़ा में रविवार की सुबह लोटन निषाद की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई। बात सिर्फ इतनी सी थी कि लोटन ने तब्‍लीगी जमात की वजह से कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की बात कह दी थी। यह बात उसने गांव के ही चाय की दुकान पर बैठे लोगों के समक्ष कह दी। यह बात वहां मौजूद मोहम्मद सोना को इतनी नागवार गुजरी कि उसने तमंचा निकाला और लोटन पर गोली चला दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। वारदात को अंजाम देकर भाग रहे आरोपित को लोगों ने दौड़ाकर पकड़ा और पुलिस को सौंपा। मामला सीएम के संज्ञान में आया तो उन्‍होंने हत्‍यारोपितों पर एनएसए लगाने का आदेश दिया। वहीं मृतक के परिजनों को उन्‍होंने 5 लाख आ‍र्थिक सहायता देने की घोषणा की।

लोटन का मोहम्‍मद सोना से विवाद हो गया था

करेली क्षेत्र के ग्राम बक्सी मोड़ा निवासी लोटन निषाद पुत्र स्वर्गीय तुलसी निषाद रविवार की सुबह करीब साढ़े नौ बजे गांव की ही चाय की दुकान पर बैठा था। इसी दौरान लोटन का वहां बैठे कुछ लोगों से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। बात बढ़ी तो वहां मौजूद मोहम्मद सोना लोटन से उलझ पड़ा और मारपीट करने लगा। लोगों की मानें तो इसी बीच मोहम्मद सोना ने तमंचे से उस पर फायर कर दिया। गोली लगने से लोटन निषाद जमीन पर गिरकर तड़पने लगा।

बक्‍सी मोड़ा में हत्‍या के बाद पुलिस अधिकारी पहुंचे

गोली की आवाज सुनकर लोग वारदात स्थल की ओर भागते हुए पहुंचे। लोगों को अपनी ओर आता देख आरोपित मोहम्मद सोना वहां से भागने लगा। उसे दौड़ाकर पकड़ लिया गया और पिटाई की गई। उधर लोटन को लोग अस्पताल ले जाने लगे लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुका था। सूचना पाकर वहां करेली थाने की फोर्स पहुंची। लोगों ने आरोपित को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया। इसके बाद आइजी रेंज समेत पुलिस के उच्‍च अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। मामले की तहकीकात की जा रही है। संदिग्‍ध लोगों से पूछताछ भी पुलिस कर रही है। फिलहाल गांव में भारी संख्‍या में पुलिस फोर्स तैनात है।

बोले एसएसपी

एसएसपी ने बताया कि घर के बाहर अखबार पढ़ते समय कहासुनी हुई थी। इसके बाद मोहम्मद सोना ने लोटन को गोली मारी। आरोपित सोना समेत दो को गिरफ्तार किया गया है। उधर मौके पर आइजी रेंज समेत पुलिस के तमाम उच्‍च अधिकारी पहुंचकर जांच-पड़ताल की।

सीएम ने मृतक परिवार को 5 लाख मुआवजा की घोषणा की

उधर प्रयागराज के करेली में युवक की हत्‍या की गूंज प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ तक पहुंच गई। उन्‍होंने मामले को संज्ञान में लेते हुए कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए। उन्‍होंने मृतक के परिवार को 5 लाख का मुआवजा, हत्यारोपियों पर एनएसए लगाने और दोषी पुलिस कर्मियों के ख़िलाफ भी कार्रवाई के आदेश दिए।

लॉकडाउन में कैसे खुली चाय की दुकान?

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा कर रखी है। ऐसे में करेली के उक्‍त मोहल्‍ले में चाय की दुकान कैसे खुली रह गई, यह बात किसी की समझ में नहीं आ रही है। क्‍या यह पुलिस की लापरवाही थी। क्‍योंकि चाय की खुली दुकान पर जाहिर है भीड़ रहेगी और फिजिकल डिस्‍टेंट का पालन भी नहीं होगा। और इस तरह के अपराध भी होंगे। संभवत: इसी लापरवाही पर सीएम ने पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की बात कही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.