खंभे में करंट से बालिका की मौत के बाद हंगामा, प्रयागराज में बिजली विभाग के जेई पर मुकदमा

खंभे में करंट उतर रहा था जिसके चपेट में शिवांगी आ गई। घरवालों ने देखा तो डंडे के जरिए उसे खंभे से अलग किया। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इससे शिवांगी के स्वजनों के साथ ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए और अरई उपकेंद्र पर पहुंचकर घेराव कर दिया

Ankur TripathiSun, 25 Jul 2021 09:43 PM (IST)
करछना इलाके में घटना के बाद बवाल होने पर एसडीओ ने एक लाख का सौंपा चेक

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। यमुनापार में करछना थाना क्षेत्र के अरई गांव में रविवार दोपहर खंभे में उतरे करंट से एक बालिका की मौत हो गई। घटना उस समय हुई जब बालिका घर के बगल में खेल रही थी और अचानक उसका हाथ खंभे से छू गया। इससे आक्रोशित मृतका के घरवालों और ग्रामीणों ने अरई उपकेंद्र का घेराव कर दिया। बिजली विभाग के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। जेई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर निलंबन की मांग की। एसडीओ व करछना थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और आक्रोशित ग्रामीणों को शांत कराया। एसडीओ ने तत्काल आर्थिक सहायता के रूप में एक लाख रुपये का चेक मृत बालिका के घरवालों को सौंपा। बाद में जेई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई।

जेई के खिलाफ भारी गुस्सा था लोगों में

अरई गांव निवासी राजनाथ की पुत्री शिवांगी (10) गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय में कक्षा पांच में पढ़ती थी। रविवार दोपहर वह घर के बगल अकेले खेल रही थी। उसी समय अचानक उसका हाथ वहीं पर लगे बिजली के खंभे में छू गया। खंभे में करंट उतर रहा था, जिसके चपेट में वह आ गई। घरवालों ने देखा तो डंडे के जरिए उसे खंभे से अलग किया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इससे शिवांगी के स्वजनों के साथ ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए और अरई उपकेंद्र पर पहुंचकर घेराव कर दिया। नारेबाजी करने के साथ ही तत्काल जेई धीरज बंसल के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर निलंबन की मांग की। कुछ ग्रामीणों ने उपकेंद्र के पास रास्ताजाम की कोशिश की, लेकिन उसी समय मौके पर पहुंची पुलिस ने उनको समझाकर रोक दिया। एसडीओ भी पहुंचे और मृतका के स्वजनों व ग्रामीणों से बातचीत की। पांच लाख रुपये आर्थिक सहायता देने का आश्वासन दिया। मौके पर ही एक लाख रुपये का चेक दिया गया। बाद में मृतका के भाई रविश कुमार ने जेई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के लिए करछना पुलिस को तहरीर दी। एसआइ धीरेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि जेई धीरज बंसल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

कई दिनों से लटक रहा था तार

राजनाथ के घर के बगल में लगे बिजली के खंभे का तार कई दिन पहले टूट गया था। वह लटक रहा और खंभे से छू रहा था। मृतका शिवांगी के भाई रविश कुमार का कहना है कि तार को ठीक करने के लिए कई बार जेई धीरज बंसल को फोन पर सूचना दी गई, लेकिन वह मरम्मतीकरण कराने के बजाए टरकाते रहे और हादसा हो गया। इस पूरे प्रकरण की जानकारी एसडीओ को भी थी। उसका कहना है कि अगर टूटे तार को ठीक करा दिया जाता तो उसकी बहन की जान न जाती। उसने बताया कि छह बहनों व तीन भाईयों ने शिवांगी सबसे छोटी थी।

करंट से राजगीर की मौत 

मांडा क्षेत्र के महुआरी खुर्द गांव का रहने वाला अमर ङ्क्षसह (32) राजगीर का काम करता था। वह रविवार सुबह घर की सफाई कर रहा था। उसी दौरान कूलर में उतर रहे करंट की चपेट में आ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी परिजनों को हुई तो कोहराम मच गया। पत्नी व दो बच्चे करन और राशि की रो-रो कर हालत खराब हो गई। मृतक पांच भाइयों में चौथे नंबर पर था। सूचना पाकर चौकी प्रभारी भारतगंज आशीष कुमार राय मौके पर पहुंचे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.