UP Panchayat Chunav 2021: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी छोड़ राजनीति में कूदी करिश्‍मा का कमाल, सपा और भाजपा प्रत्‍याशी को दी करारी शिकस्‍त

दिग्गजों को चित करके करिश्मा ने सियासत की लिखी नई इबारत।

UP Panchayat Chunav 2021 11825 मत पाकर करिश्मा ने सपा प्रत्याशी अलका यादव को 7797 मतों से शिकस्त दी। पहली बार चुनाव मैदान में कूदी करिश्मा ने ऐसा करिश्मा दिखाया कि सारे सियासी दिग्गज चित हो गए। भाजपा प्रत्याशी राकेश बिंद तो करिश्मा को मिले मतों से कोसो दूर रहे।

Rajneesh MishraTue, 04 May 2021 11:30 PM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। किसान की बेटी करिश्मा राज कश्यप ने जिला पंचायत के चुनाव में सपा और भाजपा प्रत्याशी को करारी शिकस्त देकर सियासत की नई इबारत लिख दी। पहली बार राजनीति में किस्मत आजमाने उतरी करिश्मा से वोटों के मामले में दोनों दलों के प्रत्याशी कोसों दूर रहे।

गौरा ब्लाक के बाहीपुर गांव के रहने वाले कमलेश कश्यप उर्फ नन्हे साधारण किसान हैंं। इनके पांच बेटी और चार बेटे हैं। छठवें नंबर पर इनकी बेटी करिशमा राज कश्यप है। करिश्मा ने पहले बीएससी किया और फिर राजनीतिशात्र व समाजशात्र से बीए। इनकी तमन्ना शुरू से ही राजनीति में किस्मत आजमाने की थी। हालांकि वह लखनऊ में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही थीं। साथ ही अपना खर्च चलाने के लिए प्राइवेट नौकरी भी करती हैं।

जिला पंचायत का चुनाव घोषित हुआ तो करिश्मा ने अपने पिता, भाईयों व छोटी बहन चौक चांदनी कश्यप से चुनाव लडऩे की इच्छा जताई। परिवार के सभी लोगों ने उनकी इच्छा पर मुहर लगा दी और फिर गौरा प्रथम से करिश्मा ने निषाद पार्टी के समर्थन से परचा दाखिल कर दिया।

फिर प्रचार के दौरान करिश्मा व उनकी छोटी बहन चांदनी ने लोगों को अपना मुरीद बना लिया। दोनों बहनें अलग-अलग गांव में प्रचार करने निकलती थीं। बड़ों को देखते ही झट से लपककर पैर छू लेती थी। उनके प्रचार के तरीके ने भाजपा व सपा के दिग्गजों को हैरान कर दिया। मतदान के दिन भाजपा के एक दिग्गज आपस में चर्चा कर रहे थे कि करिश्मा के आगे कोई टिक नहीं पाएगी। महिलाएं तो दोनों बहनों को गले लगाकर आशीर्वाद दे रहीं थीं।

आखिर सियासी दिग्गजों ने जो अनुमान लगाया था, नतीजा उसी के अनुरुप आया।  11825 मत पाकर करिश्मा ने सपा प्रत्याशी अलका यादव को 7797 मतों से शिकस्त दी। पहली बार चुनाव मैदान में कूदी करिश्मा ने ऐसा करिश्मा दिखाया कि सारे सियासी दिग्गज चित हो गए। भाजपा प्रत्याशी राकेश ङ्क्षबद तो करिश्मा को मिले मतों से कोसो दूर रहे।  करिश्मा का कहना है कि वह महिलाओं और गरीबों के आवाज को बुलंद कर विकास कार्यों को तवज्जो देंगी।

लाइनमैन बने जिपं सदस्य

 गौरा द्वितीय सीट से निर्वाचित जितेंद्र पटेल संविदा लाइनमैन है। यह खाखापुर पावरहाउस पर तैनात हैं। इन्होंने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रंजीत कुमार को 745 मतों से शिकस्त दी। पहले भाजपा ने इन्हें प्रत्याशी घोषित किया था, बाद में उनके स्थान पर रमेश मौर्य को उम्मीदवार बना दिया। जीतेंद्र का कहना है कि भाजपा ने उनका टिकट काटकर रमेश मौर्य को दे दिया था। वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े थे।

सबसे अधिक मतों से जीते रघुनाथ

 जिला पंचायत की 57 सीटों में से सबसे अधिक मतों से जीत रामपुर संग्रामगढ़ द्वितीय से कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी रघुनाथ सरोज ने दर्ज की है। उन्होंने 13458 मत पाकर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रोहित को 9712 मतों से हराया। रोहित को 3746 मत मिले। दूसरी सबसे बड़ी जीत आसपुर देवसरा तृतीय से सपा समर्थित प्रत्याशी विजय यादव ने दर्ज की है। उन्होंने 13118 मत पाकर निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी विजय कुमार को 9454 मतों से हराया। विजय कुमार को 3664 मत मिले। डेढ़ लाख के इनामी सुभाष यादव की पत्नी सपा समर्थित प्रत्याशी अमरावती यादव ने भाजपा प्रत्याशी रीना देवी को 8519 मतों से शिकस्त दी। अमरावती को 15848 मत और रीना देवी को 7329 मत मिले। सबसे कम मतों से लालगंज द्वितीय से सपा समर्थित प्रत्याशी सुंदरलाल पटेल जीते हैं। वह महज 160 वोटों से जीते हैं। उन्हें 4273 मत और उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी चमन सिंह को 4131 मत मिले।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.