TV Journalist Death Case: मंत्री मोती सिंह ने कहा, सीबीआइ जांच को लिखेंगे पत्र, विधायक सदर ने पत्नी को दी आर्थिक मदद

TV Journalist Death Case सुलभ की मौत के मामले में पता चला है कि जीवन के अंतिम क्षणों में वह पत्‍नी से बात करना चाहते थे। लेकिन बात नहीं हो पाई थी। गुरुवार को कैबिनेट मंत्री मोती सिंह और सदर विधायक राजकुमार पाल ने परिवार से मिलकर दुख जताया।

Rajneesh MishraThu, 17 Jun 2021 06:10 AM (IST)
कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने सुलभ की पत्नी से कहा, सीबीआइ जांच के लिए सीएम को लिखेंगे पत्र

प्रयागराज,जेएनएन।  यूपी के प्रतापगढ़ जिले में टीवी पत्रकार सुलभ की मौत के मामले में पता चला है कि जीवन के अंतिम क्षणों में वह पत्‍नी से बात करना चाहते थे। लेकिन बात नहीं हो पाई थी। इस बीच गुरुवार को कैबिनेट मंत्री मोती सिंह और सदर विधायक राजकुमार पाल ने सुलभ के घर जाकर उनके परिवार के लोगों से मिलकर इस घटना पर दुख जताया। विधायक ने सुलभ की पत्नी रेणुका को अपनी ओर से आर्थिक मदद भी दी। 

मंत्री मोती सिंह ने कहा, सीबीआइ जांच के लिए लिखेंगे पत्र

गुरुवार दोपहर कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह सांसद संगमलाल के साथ जाकर सुलभ के घरवालों से मिले और कहा कि वह सीबीआइ जांच के लिए मुख्ममंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखेंगे, साथ ही सुलभ की पत्नी रेणुका श्रीवास्तव को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। कहा कि सरकार की तरफ से पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता के रूप में पांच लाख रुपये दिए जाएंगे, वह कोशिश करेंगे कि धनराशि की सीमा और बढ़ जाए। उन्होंने रेणुका को नौकरी दिलाने का वादा भी किया। उनके साथ भाजपा के जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र भी थे।

 

पत्नी हेलो..हेलो करती रहीं लेकिन नहीं आई  आवाज

लालगंज से लौटते वक्त सुलभ के साथ क्या हुआ, कोई नहीं जानता, लेकिन जब उनकी सांसें साथ छोडऩे वाली थीं तो उनको घर की याद आ रही थी। सांस थमने से पहले पत्नी को दो बार फोन किया लेकिन बात नहीं हो सकी। पत्नी ने फोन यह सोचकर उठाया कि यहीं कहेंगे कि बस कुछ देर में घर आ रहे हैं। देर हो गई है। अक्सर ऐसा सुनना रेणुका की आदत में आ गया था। पर, 13 जून की रात का फोन ऐसा कुछ बताने को नहीं किया गया था। पत्नी ने फोन रिसीव किया...हेलो...हेलो...हेलो...। दूसरी ओर से कोई शब्द नहीं। वह अंतिम क्षण में पत्नी से बात करना चाहते थे, शायद कुछ बताना चाह चाह रहे थे, पर ऐसा न कर सके। पत्नी ने काल बैक की तो दो बार किसी ने रिसीव नहीं किया। तीसरी बार किसी अज्ञात ने रिसीव करके कहा कि आप जिनको फोन कर रहीं हैं, वह घायल हैं, बोल नहीं सकते। हम लोग अस्पताल आ रहे हैं, आप वहीं पहुंचिये। बच्चों को परिवार के रामेंद्र सक्सेना के हवाले करके वह अस्पताल भागीं। लेकिन जबतक वह पहुंची देर हो चुकी थी।

सीसीटीवी फुटेज में बाइक से अकेले आते दिखे सुलभ

पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत मामले में पुलिस की जांच कदम दर कदम आगे बढ़ रही है। बुधवार को सगरा सुंदरपुर बाजार में मिले सीसीटीवी के फुटेज में सुलभ बाइक से अकेले ही शहर की ओर आते नजर आ रहे हैं। पुलिस को अब तक यही एक फुटेज मिला है। यह घटनास्थल करीब 20 किमी दूर है। इस बीच सुलभ के साथ क्या हुआ जांच में कुछ नहीं पता चल सका है। एएसपी पूर्वी सुरेंद्र द्विवेदी व टीम ने घटनास्थल का फिर से दौरा किया। आसपास के लोगों से बात की।

जांच टीम में ये  शामिल

जांच टीम में शामिल सीओ सिटी अभय पांडेय, सीओ लालगंज जगमोहन, नगर कोतवाल रवींद्रनाथ राय, लालगंज कोतवाल रणजीत सिंह भदौरिया, साइबर सेल प्रभारी विनीत मिश्रा, सर्विलांस सेल प्रभारी संजीव कटियार, स्वाट टीम प्रभारी अमरनाथ राय ने अलग-अलग इनपुट लेकर कई बार आपस में उन पर मंथन भी किया। इधर पुलिस ने तीन उन पत्रकारों से भी पूछताछ की है, जो सुलभ के साथ लालगंज से आगे-पीछे निकले थे। एसपी आकाश तोमर ने बताया है कि इन तीन पत्रकार साथियों के साथ सुलभ ने घटना के दो घंटे पहले शराब पी थी। इसके बाद सब शहर के लिए चले थे। रास्ते में घायल होने की सूचना मिली। एसपी का कहना है कि अब तक की जांच, पत्रकारों के बयान, मौके के साक्ष्य हादसे की ओर ही इशारा कर रहे हैं, फिर भी सभी पहलू की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.