भैंस को पकड़ने के लिए उफनाए नाले में कूदा बालक, तैरना तो आता था फिर भी डूबने से हुई मौत

यह मार्मिक घटना प्रयागराज जनपद में यमुनापार के करछना थाना क्षेत्र की है। करछना के भीरपुर भीरपुर रिपोर्टिंग पुलिस चौकी के अंतर्गत भिटार गांव के निकट हादसा हुआ। दोस्तों के साथ भैंस चराने गए बालक की उफनाए नाले में डूबाने मौत हो गई।

Brijesh SrivastavaSun, 19 Sep 2021 10:13 AM (IST)
भैंस को वापस लाने के चक्‍कर में एक 12 वर्षीय बालक की नाले में डूबने से मौत हो गई।

प्रयागराज, जेएनएन। उसे तैरना आता था, उफनाए नाले में कूद गया। नाले में वह इसलिए कूदा क्‍योंकि नाले के पानी को पार कर उसकी भैंस दूसरी तरफ गई थी। उसी को लाने के लिए कूदा। उसे तैरना आता था इसलिए पानी के बहाव की उसने चिंता नहीं की। हालांकि उसकी किस्‍मत में तो अनहोनी होनी थी। बीच नाले में पहुंचा और  डूबने लगा। उसे बचाने का भरसक लोगों ने प्रयास किया लेकिन मौत हो गई।

प्रयागराज के करछना की घटना

यह मार्मिक घटना प्रयागराज जनपद में यमुनापार के करछना थाना क्षेत्र की है। करछना के भीरपुर भीरपुर रिपोर्टिंग पुलिस चौकी के अंतर्गत भिटार गांव के निकट हादसा हुआ। दोस्तों के साथ भैंस चराने गए बालक की उफनाए नाले में डूबाने मौत हो गई।

नाले के गहरे पानी में डूब गया रोहित

भिटार गांव निवासी कमला शंकर यादव का 12 वर्षीय बेटा रोहित यादव गांव के ही निकट अपने दोस्तों के साथ नाले की तरफ भैंस चराने के लिए गया था। उसी दरमियान उसकी कुछ भैसे उफनाई नाला में कूदकर दूसरी तरफ पार हो गई। भैंस को पुनः इस पार लाने के लिए रोहित नाले में कूद कर उस पार तैर कर जा रहा था। नाला अधिक गहरा होने की वजह से रोहित पानी में डूबने लगा। यह देख रोहित के साथ गए दोस्तों ने चिल्‍लाते हुए डूब रहे रोहित को बचाने का भरकम प्रयास किया। हालांकि तब तक वह गहरे पानी में समा चुका था।

पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से शव बरामद किया

घटना की जानकारी रोहित के दोस्‍तों ने उसके परिवार के लोगों के साथ ग्रामीणों को दी तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में लोग नाले के पास पहुंचे। इसी बीच सूचना पाकर भीरपुर चौकी इंचार्ज शिवांशु पांडेय फोर्स के साथ पहुंचे स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस ने पानी में डूबे हुए रोहित की तलाश की। कड़ी मशक्कत के बाद उसका शव बरामद कर लिया गया।

मजदूर का बेटा रोहित छठीं कक्षा का छात्र था

कमला शंकर यादव मजदूरी करता है। उसके तीन बेटे व एक बेटी है। बेटों में रोहित तीसरे नंबर पर था। रोहित छठीं कक्षा का छात्र था। स्कूल बंद होने के कारण वह भैंस चराने के लिए गया था। घटना के बाद परिवार के लोगों का रो-रो कर बुरा हाल है। बता दें कि इसी नाले में करीब एक माह पूर्व इसी गांव के लालजी हरिजन का 14 वर्षीय बेटे बब्बन की भी डूबने से मौत हो गई थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.