कोहरे से घिरी सर्द रात और घर में लगा था ताला, चोरों ने मारा हाथ तो अब कौशांबी पुलिस कर रही तलाश

ताला तोड़कर चोरों ने आलमारी व बक्से में रखे तीन लाख रुपये के जेवरात व नए कपड़े चुरा लिए।

सिंघिया गांव में रहने वाले सगे भाइयों सतीश व महेश के घर अगल-बगल है। सतीश पानीपत में प्राइवेट काम करता है। जबकि उसकी पत्नी अनूपा देवी बच्चों के साथ यहा गांव के घर में रहती है। बताया गया कि 13 जनवरी को अनूपा बच्चों के साथ मायके चली गई थी।

Publish Date:Wed, 20 Jan 2021 05:57 PM (IST) Author: Ankur Tripathi

प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद कौशांबी में कोखराज थाना क्षेत्र के सिंघिया गांव में बंद घर का ताला तोड़कर चोरों ने आलमारी व बक्से में रखा तीन लाख रुपये के जेवरात व नए कपड़े आदि पार कर दिए। घटना को अंजाम देने के पहले चोरों ने पड़ोस में रह रहे भाई के घर में बहार से कुंडी भी लगा दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। गांव के बाहर खाली बैग व कंबल भी पड़ा मिला। परिवारजनों से पूछताछ के बाद पुलिस ने तहरीर लेकर जांच शुरू कर दी है।

रात में मिली आहट मगर हाथ साफ कर भाग गए चोर

सिंघिया गांव में रहने वाले सगे भाइयों सतीश कुशवाहा व महेश के घर अगल-बगल है। सतीश पानीपत शहर में रहकर प्राइवेट काम करता है। जबकि, उसकी पत्नी अनूपा देवी बच्चों के साथ यहा गांव के घर में रहती है। बताया गया कि 13 जनवरी को अनूपा बच्चों के साथ मायके चली गई थी। उसके घर में ताला बंद था। मंगलवार की रात चोर गिरोह ने उसके घर को निशाना बनाया। यहां रहने वाले सतीश के भाई महेश के अनुसार चोरों ने पहले उसके घर के बाहर कुंडी बंद कर ली। इसके बाद भाई सतीश के घर का ताला तोड़कर चोर अंदर घुसे। बक्से में रखा सोने का हार व चेन आदि समेत करीब तीन लाख रुपये के जेवरात व नए कपड़े बटोर लिए। रात करीब दो बजे आहट होने पर महेश की नींद खुल गई। भाई के घर में चोरी की आशंका में उसने फोन कर इसकी जानकारी दी। उसके फोन करने और शोर मचाने पर और भी ग्रामीण जागे, लेकिन तब तक चोर भाग चुके थे।

खेत में मिला खाली बैग और कंबल

गांव वाले जुटे तो सतीश के घर जाने पर चोरी के बारे में पता चला। सुबह घटना की खबर पाकर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। गांव के बाहर खेत में कंबल व खाली बैग बरामद किया गया। फोन पर इस बारे में जानकारी मिली तो अनूपा भी मायके से घर आ गई। ठंडे मौसम में इधर चोरी की घटनाओं में इजाफा हो गया है। समस्या यह है कि चोर गिरोह तो सक्रिय है लेकिन पुलिस का रात में अता-पता नहीं रहता है। इसी वजह से चोर भी बेफिक्र होकर घरों को निशाना बना रहे हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.