top menutop menutop menu

अनलॉक में परीक्षाएं पूरी कराने की परीक्षा, यूपी के विश्वविद्यालयों में जुलाई से शुरू होना है नया सत्र

प्रयागराज, जेएनएन। लॉकडाउन में ढील मिलने से दफ्तरों में कर्मचारियों की उपस्थिति बढ़ गई है। लंबित कार्यों को पूरा कराने के लिए हर विभाग में कवायद शुरू हो गई है, लेकिन उच्च शिक्षा विभाग के सामने स्नातक व परास्नातक की रुकी परीक्षाओं को पूरा कराने का संकट अभी कायम है। दफ्तरों में शारीरिक दूरी मानक का पालन कराकर काम लिया जा रहा है, लेकिन परीक्षाओं में हजारों युवाओं को शामिल होना है। ऐसी स्थिति में कॉलेज परिसर में शारीरिक दूरी मानक का पालन कराना संभव नहीं होगा। विभाग के सामने असमंजस की स्थिति है।

उत्तर प्रदेश में 17 राज्य और 25 निजी विश्वविद्यालय हैं। इनके अंतर्गत 169 राजकीय, 331 अशासकीय सहायता प्राप्त व एक हजार से अधिक निजी डिग्री कॉलेज संचालित हैं। यहां स्नातक व परास्नातक परीक्षाएं फरवरी में शुरू होकर 30 अप्रैल तक चलनी थीं, लेकिन मार्च माह होली व कोरोना वायरस के कारण घोषित लॉकडाउन के कारण परीक्षाएं नहीं हो सकी, जबकि अप्रैल और मई में लॉकडाउन के कारण परीक्षाएं स्थगित रहीं।

इधर, उत्तर प्रदेश शासन ने छह जुलाई से शिक्षा का नया सत्र शुरू करने का फरमान जारी कर दिया है। ऐसी स्थिति में उच्च शिक्षा निदेशालय के समक्ष स्थगित परीक्षाएं जल्द कराकर जून के अंत तक रिजल्ट जारी करने की चुनौती है। ऐसा न होने पर नया शिक्षा सत्र प्रभावित हो सकता है, परंतु मौजूदा स्थिति को देखते हुए परीक्षाएं शुरू कराना संभव नहीं है। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. वंदना शर्मा का कहना है कि रुकी परीक्षाएं कराने के लिए राज्य विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया गया है। वह शासन के निर्देशानुसार अपनी कार्रवाई करेंगे।

नए सिरे से जारी करना होगा कार्यक्रम : स्थगित परीक्षाओं को शुरू कराने के लिए राज्य विश्वविद्यालयों को नए सिरे से कार्यक्रम जारी करना होगा। नई तारीख तय करके उसके अनुरूप परीक्षाएं करानी होगी। लेकिन, अभी तक विश्वविद्यालयों ने परीक्षा का कार्यक्रम जारी नहीं किया।

नहीं शुरू हुआ मूल्यांकन : शासन ने ग्रीन व ऑरेंज जोन वाले जिलों में स्थित राज्य विश्वविद्यालयों में अभी तक हुई परीक्षाओं की कापियों का मूल्यांकन कराने का निर्देश दिया था, जिससे रिजल्ट निकालने में दिक्कत न होने पाए। अभी तक किसी विश्वविद्यालय ने मूल्यांकन शुरू नहीं किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.