जेल में पूर्व प्रमुख की वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी पेशी

प्रयागराज : प्रतापगढ़ की जेल से ट्रांसफर होकर जिला कारागार आया पूर्व ब्लॉक प्रमुख अफसरों के लिए मुसीबत बना है। बाहरी व्यवस्था न उपलब्ध कराने के नाम पर पांच दिनों से हंगामा कर रहा है। जेल अधीक्षक बीएस मुकुंद ने अब वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उसकी पेशी कराने की तैयारी शुरू कर दी है। जेल अधीक्षक ने आइजी जेल समेत जिलाधिकारी को पत्र भेज दिया है।
 रायबरेली के पूर्व ब्लॉक प्रमुख राजेश विक्रम सिंह के खिलाफ हत्या, कातिलाना हमले, बलवा जैसे संगीन धाराओं में कई मुकदमे दर्ज हैं। इसके चलते पूर्व प्रमुख को कई जेलों से इधर-उधर स्थानांतरित किया जा चुका है। बीते दिनों प्रतापगढ़ जेल से कौशांबी के कारागार में शिफ्ट किया गया है। पूर्व प्रमुख को तनहाई में रखा गया है। जेल अधीक्षक बीएस मुकुंद का कहना है कि वह तमाम तरह से दबाव बनाकर जेल के बाहर से खाने-पीने की व्यवस्था चाहता है। मांग न पूरी होने पर जेल प्रशासन तक अवैध वसूली जैसे आरोप लगा रहा है। इसकी जानकारी जनपद के आला अफसरों को दी गई है। शुक्रवार को भी पूर्व प्रमुख ने हंगामा किया था।
 ऐसे में अधीक्षक का मानना है कि जब जेल के भीतर पूर्व ब्लाक प्रमुख माहौल बिगाड़ने का प्रयास कर रहा है तो वह पेशी पर ले जाते समय मुसीबत खड़ी कर सकता है। इस पर उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पूर्व प्रमुख की पेशी कराने की तैयारी की है। बंदी पूर्व ब्लॉक प्रमुख राजेश विक्रम सिंह को तनहाई बैरक में रखा है लेकिन वह दूसरी बैरक में रखने और जेल के बाहर से खाने-पीने के सामान उपलब्ध कराने का दबाव बना रहा है। दो दिन पहले उनसे मिलाई करने आए कुछ लोगों ने भी अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए आला अफसरों से झूठी शिकायत की है।
 माहौल न बिगड़ने पाए, इसके लिए बंदी की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट से पेशी कराई जाएगी।
 - बीएस मुकुंद, प्रभारी अधीक्षक, जिला जेल।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.