Crime: दुकान बंद करने के बाद घर जा रहे व्यापारी को प्रतापगढ़ में मार दी गोली

वह अपनी दुकान बंद कर बाइक पर मकूनपुर चौराहा होकर नहर की पटरी से घर जा रहा था। आरोप है कि नहर की पटरी पर जंगल के समीप पहले से घात लगा कर बैठे कंधई थाना क्षेत्र के पंडित पुरवा का निवासी मनीष ने उसे गोली मार दी

Ankur TripathiWed, 24 Nov 2021 08:10 PM (IST)
गोली इंतजार के दाहिने हाथ में लगी गंभीर अवस्था में उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया

प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ में बुधवार देर शाम दुकान बंदने के बाद घर लौट रहे कोहरौड़ थाना क्षेत्र के तिवारीपुर खुर्द निवासी इंतजार अली को पुरानी रंजिश के चलते एक युवक ने गोली मार दी। गनीमत रही कि गोली इंतजार के दाहिने हाथ में लगी, गंभीर अवस्था में उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

नहर की पटरी पर छिपा था शख्स

कोहड़ौर थाना क्षेत्र के तिवारीपुर खुर्द गांव में रहने वाले इंतजार अली (23) पुत्र मोहर अली मदुरा रानीगंज में बिल्डिंग की दुकान चलाता है। बुधवार की शाम लगभग सात बजे वह अपनी दुकान बंद करने के बाद बाइक पर मकूनपुर चौराहा होकर नहर की पटरी से घर जा रहा था। आरोप है कि नहर की पटरी पर जंगल के समीप पहले से घात लगा कर बैठे कंधई थाना क्षेत्र के पंडित पुरवा का निवासी मनीष ने उसे गोली मार दी। गोली लगते ही इंतजार बाइक सहित गिर पड़ा। इस दौरान उसके साथ मौजूद दूसरे शख्स ने पुलिस को सूचना दी तो थानाध्यक्ष बच्चे लाल फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे गए। आरोपित मनीष की तलाश शुरू करने के साथ ही घायल इंतजार अली को जिला मेडिकल कालेज भेजा। पुलिस फोर्स ने आरोपित मनीष को भी पकड़ लिया और उसे पकड़ कर थाने ले गए जहां उससे पूछताछ की जा रही है। थानाध्यक्ष बच्चे लाल ने बताया कि गोली लगने की सूचना पर फोर्स मौके पर पहुंची थी। गोली से घायल इंतजार अली को इलाज के लिए जिला मेडिकल कालेज भेजा गया है। आरोपित मनीष को पकड़ कर पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने घर का ताला तोड़कर मचाया तांडव

प्रतापगढ़ में उदयपुर थाना क्षेत्र के पूरे कुरेसिन राहाटीकर गांव निवासी माताफेर पाल पुत्र पंचम पाल के घर में बड़ी संख्या में पहुंचे पुलिसकर्मियों ने राम आसरे पाल पुत्र माताफेर, सन्तोष पाल पुत्र रामआधार पाल, अशोक पाल पुत्र दयाराम पाल के दरवाजे का ताला तोड़कर घर के अंदर गए। लोगों का आरोप कि कमरे में बक्से से कपड़ा आदि बिखेरकर चार हजार रुपये नगदी उठा ले गये। पीड़ित गांव के बाहर रोड पर मकान बनवाने गए थें वही रामचरितमानस पाठ करवाकर गृह प्रवेश की तैयारी कर रहे थे जबकि सन्तोष का पूरा परिवार पंजाब में रह रहा है। पीड़ित राम आसरे पाल ने उदयपुर थाना तथा कप्तान को पुलिस के खिलाफ तहरीर दिया है। एसओ एहसानुलहक का कहना है की सलोन रायबरेली की पुलिस गई थी। क्या मामला है मेरी जानकारी में नही है।पीड़ित तहरीर दिया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.