एसआरएन में भर्ती संघ पदाधिकारी के पास पहुंचा संदिग्ध, दर्ज हुआ मुकदमा Prayagraj News

इंस्पेक्टर कोतवाली का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

कोतवाली पुलिस को तहरीर दी थी कि उनके वार्ड में गिरफ्तार आरोपित माशूक निवासी सुल्तानपुर खास का पिता अकबर अली अपने दो साथियों के साथ जान से मारने की नीयत से घुस आए थे। यह देखकर उनके साथ मौजूद लोगों ने तीनों को पकडऩे की कोशिश की तो वे भागे।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 08:31 PM (IST) Author: Rajneesh Mishra

प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज में मऊआइमा थाना क्षेत्र के छपाई बाग गांव के पास चार दिन पहले गोली लगने से आरएसएस के खंड कार्यवाह दिनेश मौर्य का इलाज एसआरएन अस्पताल में चल रहा है। रविवार शाम जिस वार्ड में दिनेश भर्ती हैं, वहां तीन संदिग्ध दाखिल हो गए। खंड कार्यवाह के साथियों ने उनको पकडऩे की कोशिश की तो हाथापाई हो गई। इस दौरान एक का मोबाइल गिर गया। मामले में कोतवाली थाने में एक को नामजद करते हुए तीन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

चार दिन पहले हुआ था हमला

मरखामऊ गांव निवासी दिनेश मौर्य रोडवेज में संविदा परिचालक के साथ ही आरएसएस के खंड कार्यवाह हैं। चार दिन पहले ड्यूटी से वापस घर जाते समय छपाही बाग गांव के समीप ही उनको गोली मार दी गई थी। मामले में छह आरोपित लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि एक फरार है। वहीं दिनेश मौर्य का इलाज स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में चल रहा है।

आरोपित के पिता समेत तीन के खिलाफ एफआइआर

रविवार रात को उन्होंने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी थी कि शाम को उनके वार्ड में गिरफ्तार आरोपित माशूक निवासी सुल्तानपुर खास का पिता अकबर अली अपने दो साथियों के साथ जान से मारने की नीयत से घुस आए थे। यह देखकर उनके साथ मौजूद लोगों ने तीनों को पकडऩे की कोशिश की तो वे भागे। वार्ड के बाहर तीनों को पकड़ लिया गया, लेकिन हाथापाई कर सभी भाग निकले। इस दौरान अस्पताल में अफरातफरी मच गई। इंस्पेक्टर कोतवाली विनोद कुमार का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.