State University में डेढ़ घंटे की होगी परीक्षा और सवालों की संख्या भी कर दी गई आधी

परास्नातक की परीक्षाएं तीन घंटे की जगह डेढ़ घंटे की होगी। प्रश्नपत्रों की संख्या आधी कर दी गई । स्नातक परीक्षा प्रणाली का सरलीकरण करते हुए परीक्षा समिति ने एक विषय के सभी प्रश्नपत्रों को न्यूनतम दो एवं अधिकतम तीन प्रश्नपत्र में समेटकर एक प्रश्नपत्र तैयार कराने का निर्णय लिया

Ankur TripathiWed, 16 Jun 2021 06:50 AM (IST)
कुलपति की अध्यक्षता में परीक्षा समिति की बैठक में फैसले पर अंतिम मुहर, 2.66 लाख को परीक्षा देनी होगी

प्रयागराज, जेएनएन। प्रोफेसर राजेंद्र सिंह (रज्जू भइया) राज्य विश्वविद्यालय और उससे संबद्ध मंडल के चारों जिलों (प्रयागराज, कौशांबी, फतेहपुर, प्रतापगढ़) के कालेजों में अध्ययनरत स्नातक अंतिम वर्ष और परास्नातक अंतिम सेमेस्टर के अलावा स्नातक द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं को परीक्षा देनी होगी। जबकि, स्नातक प्रथम वर्ष और परास्नातक के बाकी छात्रों को प्रोन्नत किया जाएगा। यह अहम फैसला मंगलवार को कुलपति डा. अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में आयोजित परीक्षा समिति की बैठक में लिया गया है।

परास्नातक की परीक्षाएं तीन घंटे की जगह डेढ़ घंटे की

कुलपति ने बताया कि परास्नातक की परीक्षाएं तीन घंटे की जगह डेढ़ घंटे की होगी। प्रश्नपत्रों की संख्या भी आधी कर दी गई है। स्नातक परीक्षा प्रणाली का सरलीकरण करते हुए परीक्षा समिति ने एक विषय के सभी प्रश्नपत्रों को न्यूनतम दो एवं अधिकतम तीन प्रश्नपत्र में समेटकर एक प्रश्नपत्र तैयार कराने का निर्णय लिया है। इसके अलावा स्नातक द्वितीय एवं चतुर्थ तथा परास्नातक द्वितीय सेमेस्टर के छात्रों को उनके प्रथम/तृतीय सेमेस्टर के आधार पर प्रोन्नत किया जाएगा। स्नातक प्रथम वर्ष के छात्रों को द्वितीय वर्ष में प्रोन्नत कर दिया जाएगा। सत्र 2020-21 के स्नातक द्वितीय वर्ष के ऐसे छात्र जिन्हेंं पिछले वर्ष प्रथम वर्ष में प्रोन्नत किया गया था, ऐसे छात्रों को परीक्षा देने के बाद तृतीय वर्ष में प्रवेश दिया जाएगा। हालांकि, बीकाम द्वितीय वर्ष सत्र 2020-21 की परीक्षा नहीं होगी। क्योंकि बीकाम प्रथम वर्ष सत्र 2019-20 की परीक्षाएं हो चुकी हैं। बीकाम द्वितीय वर्ष को तृतीय वर्ष और प्रथम वर्ष को द्वितीय वर्ष में प्रोन्नत किया जाएगा। इस लिहाज से कुल 2.66 लाख को परीक्षा देनी होगी और 1.61 को प्रोन्नत किया जाएगा।

स्नातक प्रथम वर्ष को प्रोन्नत करने की तैयारी में इविवि

इलाहाबाद केंद्रीय विवि समेत संघटक कालेजों में स्नातक प्रथम वर्ष में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को अब प्रोन्नत करने की तैयारी चल रही है। फिलहाल अभी आधिकारिक तौर पर इविवि प्रशासन कुछ भी बोलने से कतरा रहा है। अब बुधवार को कुलपति की अध्यक्षता में आयोजित परीक्षा समिति की बैठक में इस मसले पर कोई अहम निर्णय लिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.