top menutop menutop menu

Self Employment के लिए इन तीन योजनाओं में करें आवेदन, जिला उद्योग केंद्र मदद करेगा Prayagraj News

प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के संकट से लोगों को उबारने के लिए प्रदेश सरकार संकल्पित है। इसके लिए स्‍वरोजगार को बढ़ावा देने जोर दिया जा रहा है। स्वरोजगार में खासकर यूनिटें लगाने के लिए लोगों को बैंक से लोन मुहैया कराने में जिला उद्योग केंद्र भी मदद कर रहा है। जनवरी से जून तक रोजगार करने और इकाई लगाने के लिए 1544 लोगों ने आवेदन किए हैं।

जिला उद्योग केंद्र में तीन योजनाओं में लोन को आवेदन करें

जिला उद्योग केंद्र में तीन योजनाओं के तहत लोन के लिए आवेदन किए जा रहे हैं। इसमें प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी), मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना (एमवाईएसवाई) और एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) शामिल है। इन योजनाओं में एक जनवरी से 31 मार्च तक कुल 355 लोगों ने आवेदन किए। जबकि एक अप्रैल से 30 जून तक 1189 लोगों ने आवेदन किए। सबसे ज्यादा आवेदन पीएमईजीपी और फिर एमवाईएसवाई में हुए हैं। ओडीओपी में सबसे कम आवेदन हुए।

आवेदन करने वालों की संख्या में तीन गुना से ज्यादा की वृद्धि

शुरुआती तीन महीने की तुलना में लॉकडाउन लागू होने से लेकर जून तक आवेदन करने वालों की संख्या में तीन गुना से ज्यादा की वृद्धि हुई है। आवेदन करने वालों में से 300 लोगों के लोन स्वीकृत करके पत्रावलियां बैंकों को भेजी जा चुकी हैं। स्वरोजगार के लिए ओडीओपी के अंतर्गत फूड प्रोसेसिंग और मूंज से जुड़े उद्यमियों के लिए 10 दिवसीय एवं विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत परंपरागत कारीगरों लोहार, बढ़ई, मोची, हलवाई, नाई, कुम्हार, राजगीर, बुनकरों के लिए भी प्रशिक्षण कार्यक्रम की तैयारी है।

निवेश मित्र पोर्टल से दूर हुईं उद्यमियों की दिक्कतें

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत प्रदेश सरकार द्वारा निवेश मित्र पोर्टल बनाया गया है। इस पोर्टल से 20 विभाग जुड़े हैं। इकाई लगाने के लिए उद्यमी को इस पोर्टल पर कॉमन अप्लीकेशन फार्म भरना पड़ता है। उसे अलग-अलग विभागों का चक्कर लगाने की अब जरूरत नहीं पड़ती है। अगर फार्म में कोई कमी है तो संबंधित विभाग सात दिन के अंदर ऑनलाइन मैसेज संबंधित उद्यमी को करेगा और उसे उस कमी को पूरा करके सात दिन के अंदर जमा करना होगा। इसके बाद एक महीने के अंदर अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी हो जाएगा।

किस योजना के तहत कितने आवेदन

पीएमईजीपी-815

एमवाईएसवाई-521

ओडीओपी-208

बोले उद्योग उपायुक्त

उद्योग उपायुक्त अजय कुमार चौरसिया कहते हैं कि इतना ज्यादा आवेदन रोजगार के लिए पहले कभी नहीं हुए। कोरोना वायरस संक्रमण के बाद से स्वरोजगार के लिए लोन लेने वालों की संख्या में वृद्धि हुई है। जो योजनाओं के दायरे में आ रहे हैं और उनके प्रोजेक्ट सही हैं, उन्हें लोन के लिए स्वीकृति प्रदान की जा रही है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.