पीसीएस-जे परीक्षा 2018 के लिये ऑनलाइन आवेदन शुरू, पाठ्यक्रम जारी

इलाहाबाद (जेएनएन)। उप्र लोकसेवा आयोग यानि यूपीपीएससी ने 610 पदों पर सिविल जजों की भर्ती के लिए पीसीएस जे परीक्षा 2018 का विज्ञापन मंगलवार को वेबसाइट  www.uppsc.up.nic.in पर जारी कर दिया। पाठ्यक्रम, प्रश्नपत्र के स्वरूप, साक्षात्कार के निर्धारित अंक समेत अन्य जानकारी स्पष्ट कर दी गई है। ऑनलाइन आवेदन 11 अक्टूबर तक, जबकि ऑनलाइन परीक्षा शुल्क आठ अक्टूबर तक ही जमा होंगे।

ऑनलाइन आवेदन में अभ्यर्थियों को निर्धारित कॉलम में अपना मोबाइल नंबर और ई-मेल आइडी देना होगा, इसके बिना उनका बेसिक रजिस्ट्रेशन पूरा नहीं होगा। इसी मोबाइल नंबर पर भविष्य में यूपीपीएससी की ओर से सभी सूचनाएं/निर्देश एसएमएस के जरिये भेजे जाएंगे तथा ई-मेल, अभ्यर्थियों के पंजीकृत ई-मेल पर भेजे जाएंगे।

परीक्षा शुल्क

सामान्य/ओबीसी अभ्यर्थियों के लिए कुल 125 रुपये एससी/एसटी के लिए 65 रुपये, दिव्यांग श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 25 रुपये निर्धारित किया गया है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रित/भूतपूर्व सैनिक/महिला के लिए अपनी मूल श्रेणी के अनुसार परीक्षा शुल्क देय होगा।

आरक्षण

सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 308, ओबीसी के लिए 164, एससी अभ्यर्थियों के लिए 128, एसटी के लिए 12, क्षैतिज आरक्षण के आधार पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के आश्रितों के लिए 12, महिला के लिए 122 व शारीरिक रूप से दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए 24 पद आरक्षित रहेंगे।

ऐसे रहेगा प्रश्नपत्र व पाठ्यक्रम

प्रारंभिक परीक्षा का प्रथम प्रश्नपत्र सामान्य ज्ञान का रहेगा। यह 150 प्रश्नों वाला और दो घंटे की अवधि का होगा। इसमें भारत के इतिहास और भारतीय संस्कृति, भारत का भूगोल, भारतीय राजनीति, वर्तमान राष्ट्रीय मामले और सामाजिक सुसंगति के विषय, भारत और विश्व, भारतीय अर्थ व्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय मामले और संस्थाएं, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, संचार और अंतरिक्ष के क्षेत्र के विकास पर आधारित प्रश्न होंगे।

दूसरा प्रश्न पत्र विधि का होगा। इसमें 300 प्रश्न होंगे जिसे दो घंटे में हल करना होगा। इसमें भारत तथा विश्व में विशेष रूप से विधिक क्षेत्र में प्रतिदिन हो रही घटनाएं, अधिनियम और विधियों पर आधारित प्रश्न सम्मिलित हो सकते हैं। इसमें विधि शास्त्र, अंतरराष्ट्रीय संगठन, वर्तमान अंतर्राष्ट्रीय प्रकरण, भारतीय संविधान, संपत्ति अंतरण अधिनियम, भारतीय साक्ष्य अधिनियम, भारतीय दंड संहिता, सिविल प्रक्रिया संहिता, आपराधिक प्रक्रिया संहिता और संविदा विधि के प्रश्न आएंगे।

आयु सीमा

अभ्यर्थियों के लिए आयु सीमा कम से कम 22 और अधिकतम 35 साल निर्धारित की गई है। आयु की गणना एक जुलाई 2019 से होगी।

चार अवसर की बाध्यता

जिन अभ्यर्थियों के पीसीएस जे परीक्षा में शामिल होने के चार अवसर पूरे हो चुके हैं उन्हें इस परीक्षा के लिए अतिरिक्त अवसर नहीं मिला है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.