Rural Sports Talent : ग्रामीण खेल प्रतिभाएं प्रयागराज में प्रोत्‍साहित होंगी, राष्ट्रीय फलक पर ले जाने की है कोशिश

ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाओं को अब आगे बढ़ने का मौका मिल सकेगा।
Publish Date:Wed, 21 Oct 2020 01:41 PM (IST) Author: Brijesh Srivastava

प्रयागराज, जेएनएन। टीचर्स गेम्स वेल्फेयर एसोसिएशन, उत्‍तर प्रदेश अब ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाओं
को तलाश कर खेल एवं प्रशिक्षण की मुख्य धारा में जोड़ने की योजना बना रहा है। एसोसिएशन के प्रदेश सचिव आशुतोष सिंह ने बताया कि अब ग्रामीण, कस्बे, मुहल्ले के हर आयु वर्ग के खिलाड़ियों की कबड्ड़ी, खो-खो, एथलेटिक्स, वालीबाल, फुटबॉल, हॉकी, बैडमिंटन आदि खेलों का ब्लाक स्तर से राष्ट्रीय स्तर तक प्रतियोगिता एवं ट्रायल्स के माध्यम से खिलाड़ियों को चिन्हित करने का कार्य किया जाएगा। इसमे विभिन्न स्कूलों के खेल शिक्षकों की भी मदद ली जाएगी।

जिले में ऐसे तमाम बच्चे हैं जो स्कूल गेम्स या यूनिवर्सिटी गेम्स से दूर हैं और उन्हें अपनी क्षमताओं के प्रदर्शन का अवसर नहीं मिल पा रहा है। हालांकि अब तक स्‍थानीय स्तर पर होने वाली प्राइजमनी या मेमोरियल प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग व प्रदर्शन करने वाले खिलाडि़यों से संपर्क किया जाएगा। इसके बाद उन्‍हें प्रशिक्षण देने के साथ ही ऑर्टियोगिताओ से भी जोड़ा जाएगा। जरूरत के अनुसार उन्हें संसाधन भी दिलाने की कोशिश होगी।

अभी तक स्थानीय स्तर पर होने वाली ये प्रतियोगिताएं उसी स्तर तक खिलाड़ियों को खेलने का अवसर तो उपलब्ध करा पाती हैं, लेकिन जीतने पर अगले स्तर में प्रतिभाग का अवसर नहीं दिया जाता था। वहीं अब टीचर्स गेम्स वेल्फेयर एसोसिएशन प्रदेश के सभी ब्लाकों में विकास खण्ड स्तर पर खिलाड़ियों की प्रतियोगिता, ट्रायल्स कराएगा और ऐसे खिलाडि़यों को जिला, मंडल, स्टेट व नेशनल स्तर पर प्रतिभाग का अवसर उपलब्ध कराएगा। इस कार्य मे स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ ही समाज के सक्षम लोगो की भी मदद ली जाएगी, जिससे संसाधनों को जुटाया जा सके।

खिलाड़ियों को ट्रायल के अवसर भी दिलाएंगे
चयनित प्रतिभावान बच्चों के प्रशिक्षण हेतु विभिन्न स्टेडियम्स, स्पोर्ट्स हॉस्टल्स व खेलो इंडिया ओपन ट्रायल्स में प्रतिभाग के अवसर भी उपलब्ध कराएगा। इसके लिए प्रदेश भर के सभी खेलों की स्थानीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं को संगठित कर उनसे निकलने वाले खिलाड़ियों को अगले स्तर पर प्रतिभाग की रणनीति तैयार की जा रही है। इससे पहले एसोसिएशन के पदाधिकारी ग्रामीण बच्चों को आर्मी, पुलिस बल आदि में जाने हेतु प्रशिक्षण दे ही रहे हैं लेकिन इस योजना से उन्हें राज्य व नेशनल स्तर पर प्रतिभाग के अवसर भी उपलब्ध हो सकेंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.