Railway News Prayagraj: इंतजार खत्म, आ गए थर्ड एसी इकोनामी क्लास के दो कोच

दोनों कोच कोचिंग डिपो में खड़े कराए गए हैं। फिलहाल अभी कुछ और तैयारी की जानी है। इसके बाद प्रयागराज से चलने वाली वीआइपी टे्रनों में इन कोचों को लगाया जाएगा। इस कोच में किफायती किराये का भुगतान कर यात्री आरामदायक सफर कर सकेंगे।

Ankur TripathiTue, 03 Aug 2021 09:35 PM (IST)
72 के बजाय होंगी 83 सीटों की हैं कोच में, चार्टिंग की व्यवस्था की फीडिंग के बाद लगेंगे कोच

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। इंतजार खत्म, थर्ड एसी इकोनामी क्लास के दो कोच प्रयागराज मंडल को हैंडओवर किए गए हैं। दोनों कोच कोचिंग डिपो में खड़े कराए गए हैं। फिलहाल अभी कुछ और तैयारी की जानी है। इसके बाद प्रयागराज से चलने वाली वीआइपी टे्रनों में इन कोचों को लगाया जाएगा। इस कोच में किफायती किराये का भुगतान कर यात्री आरामदायक सफर कर सकेंगे। उम्मीद है कि लोगों को ये कोच पसंद आएंगे।

इन कोचों को वीआइपी गाडिय़ों में लगाया जाना हैं

रेल कोच फैक्ट्री (आरसीएफ), कपूरथला के अधिकारियों ने रेलवे बोर्ड को हैंडओवर करते हुए थ्री टियर एसी इकोनामी क्लास कोचों को रवाना किया। इनमें दो कोच एनसीआर जोन के प्रयागराज को मिले हैं। इन कोचों के लिए किराया निर्धारित करने, चार्टिंग की व्यवस्था, पीआरएस (पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम) में फीडिंग आदि का काम चल रहा है। शुरुआती दौर में इन कोचों को वीआइपी गाडिय़ों में लगाया जाना हैं। इसके बाद धीरे-धीरे अन्य गाडिय़ों में भी लगाए जाएंगे। वहीं, आरसीएफ के अधिकारियों का कहना है कि थ्री टियर एसी इकोनामी क्लास कोचों में सीटे बढ़ाने के साथ आकर्षक डिजाइन भी किया गया है। थ्री टियर कोच के किराये में इकोनामी क्लास की यात्रा का अनुभव होगा। वर्ष 2021-22 में 248 थर्ड एसी इकोनामी कोच बनाने का लक्ष्य है। पहली खेप में 15 कोच तैयार कर रवाना भी किए जा चुके है। इनमें दो कोच प्रयागराज भेजे गए हैं।

ये हैं विशेषताएं

- दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए विशेष डिजाइन किया गया शौचालय का दरवाजा

- मोबाइल फोन व मैग्जीन होल्डर्स, फायर सेफ्टी की आधुनिक व्यवस्था

- प्रत्येक बर्थ पर पढऩे के लिए रीडिंग लाइट व मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट

- मिडिल व अपर बर्थ पर चढऩे के लिए नई व आरामदायक सीढ़ी

जरूरत के अनुसार ट्रेनों में थ्री टियर एसी इकोनामी क्लास कोच लगाए जाएंगे। इसके बाद धीरे-धीरे सभी गाडिय़ों में ये कोच लगाए जाने हैं।

- अमित कुमार सिंह, पीआरओ, प्रयागराज मंडल

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.