Prayagraj Weather News: सुबह उमस व दोपहर में रिमझिम बारिश, जानें अगले 24 घंटे के मौसम का हाल

Prayagraj Weather News बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में निम्न वायुदाब क्षेत्र बन रहा है। इसके प्रभाव से आज और कल यानी गुरुवार को इसका असर पूर्वी उत्तर प्रदेश तक पहुंच जाएगा। उधर पुरवा हवाएं चलने से प्रयागराज समेत उत्तर प्रदेश में नमी बरकरार है।

Brijesh SrivastavaWed, 28 Jul 2021 04:26 PM (IST)
आसमान में बादल छाए हैं लेकिन उमस बरकरार है। प्रयागराज में कल बारिश की संभावना है।

प्रयागराज, जेएनएन। मंगलवार की रात झमाझम बारिश के बाद सुबह मौसम बदला-बदला सा रहा। आसमान में बादल तो छाए रहे लेकिन बारिश नहीं हुई। दोपहर में उमस ने लोगों को बेहाल किया। दोपहर बाद रिमझिम बारिश ने कुछ राहत दी। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के मौसम का पूर्वानुमान दिया है। कल बारिश के आसार जताए हैं। वहीं आज भी शाम के बाद बारिश की उम्‍मीद है। फिलहाल किसानों को भी धान की फसल के लिए अच्‍छी बारिश की आस है।

बंगाल की खाड़ी में निम्‍न वायुदाब क्षेत्र

बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में निम्न वायुदाब क्षेत्र बन रहा है। इसके प्रभाव से आज और कल यानी गुरुवार को इसका असर पूर्वी उत्तर प्रदेश तक पहुंच जाएगा। उधर, पुरवा हवाएं चलने से प्रयागराज समेत उत्तर प्रदेश में नमी बरकरार है। नतीजतन प्रयागराज और आसपास के क्षेत्रों में एक-दो दिन में तेज पुरवा चलने के साथ गरज-चमक के साथ बारिश का सिलसिला शुरू होने के आसार हैं। कुछ स्थानों से रुक-रुक कर बारिश भी हो सकती है। बारिश का यह क्रम 29 जुलाई तक चलने की संभावना है। इस बारिश से बीते चार दिन से पड़ रही उमसभरी गर्मी से राहत मिल सकती है।

आज का तापमान

मौसम में उतार-चढ़ाव जारी है। बुधवार को अधिकतम तापमान 33.5 डिग्री सेल्सियस और न्‍यूनतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मंगलवार को अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था।

मौसम विज्ञानी ने बारिश की संभावना जताई

इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय के भूगोल विभाग के प्रो. एचएन मिश्रा ने बताया कि पश्चिमी भाग दिल्ली और हिमांचल में बारिश हो रही है। आज या कल तक बारिश शुरू होने की उम्‍मीद है। उन्‍होंने बताया कि इस सप्ताह के अंत तक अच्छी बारिश होने के आसार हैं।

आसमान की ओर टकटकी लगाए किसान

बारिश की आस में किसान बैठे हैं। उन्‍हें बेसब्री से बारिश की प्रतीक्षा है। खेतों में लगी धान की फसल बारिश के बिना सूखने के कगार पर पहुंच गई है। आसमान में बादलों को देखकर किसानों को अच्‍छी बारिश की उम्‍मीद जगी है। बारिश से धान की फसल को नया जीवन मिल जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.